जनता के नकारे सलाह ना देंः सरकार

वेंकैया नायडु इमेज कॉपीरइट EPA

संसद में राहुल गाँधी के सवालों पर सरकार की ओर से केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने जवाब दिया. उन्होंने यह भी कहा कि कृषि मंत्री अलग से जवाब देंगे.

वेंकैया नायडू ने राहुल गांधी की प्रधानमंत्री को दी गई सलाहों को नकारते हुए कहा कि जिन्हें जनता ने नकार दिय है वो प्रधानमंत्री को सलाह नहीं दे सकते.

किसानों के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार ने मुआवज़ा बढ़ाया है और कृषि में शोध को भी बढ़ावा दिया जा रहा है.

वेंकैया ने यह भी कहा कि मीडिया की हेडलाइन हमारी डेडलाइन नहीं हो सकती है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी को किसानों का हालचाल पूछने की सलाह दी है.

उन्होंने सवाल किया, "हम नौ महीने पहले ही सरकार में आए हैं. क्या हम सिर्फ़ उद्योगपतियों के लिए ही काम कर रहे हैं.?"

सरकार को ग़रीबों की हितैषी बताते हुए उन्होंने कहा कि मुद्रा बैंक सामान्य लोगों के लिए ही है और ग्रामीण इलाक़ों में मनरेगा को पाँच हज़ार करोड़ रुपए ज़्यादा दिए गए हैं.

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, "आपकी सरकार ग़रीबों के लिए बातें करती थी, अमीरों के लिए काम इसलिए ही आप अब विपक्ष में हैं. आपको पाँच साल सब्र करना चाहिए और फिर अपनी क़िस्मत आज़मानी चाहिेए. सबसे ज़्यादा किसान सांसद हमारी ओर हैं. आप कैसे कह सकते हैं कि हम किसानों का प्रतिनिधित्व नहीं करते?"

भूमि अधिग्रहण पर आर्डिनेंस लाने के सवाल पर जवाब देते हुए वेंकैया ने कहा, "आप 462 ओर्डिनेंस लाए थे. बिल्ली सौ चूहे खाकर हज यात्रा के लिए निकली है."

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक पर और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार