भारत का नेपाल में 'ऑपरेशन मैत्री'

  • 26 अप्रैल 2015
नेपाल से लाए गए भारतीय इमेज कॉपीरइट Ministry Of Defence

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता सितांशू कर के मुताबिक भारतीय सेना ने नेपाल में अपने राहत और बचाव अभियान को ऑपरेशन मैत्री नाम दिया है.

भारत आज बड़ी तादाद में राहत और बचाव सामग्री नेपाल भेज रहा है. भारतीय वायुसेना का विमान सी-17 हिंडन इंजीनियरिंग टॉस्क फ़ोर्स लेकर नेपाल पहुँचेगा.

बसों के ज़रिए भी नेपाल से नागरिकों को निकाला जाएगा. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, "मैंने बिहार और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों से कहा है कि नेपाल में फँसे लोगों को बाहर निकालने के लिए बसों और एंबुलैंसों मुहैया कराएं."

पाँच एम-17 हेलीकॉप्टर आज सुबह काठमांडू पहुँच चुके हैं जबिक तीन और पहुँच रहे हैं..

ये विमान राहत सामग्री भी ले जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Ministry Of Defence

भूकंप प्रभावित नेपाल में फंसे भारतीयों को लेकर भारतीय वायुसेना के चार विमान दिल्ली पहुंच चुके हैं.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप के मुताबिक अब तक 540 भारतीय नागरिकों को नेपाल से सुरक्षित भारत पहुँचाया जा चुका है.

भारत ने अपनी वायुसेना के ज़रिए एनडीआरएफ के 39 सहायता कर्मी और साढ़े तीन टन राहत सामग्री नेपाल भेजी है.

नेपाल में पिछले 30 वर्षों में यह अब तक का सबसे ज़ोरदार भूकंप है.

7.8 तीव्रता के इस भूकंप में 1800 लोगों के मारे जाने की ख़बर है. भूकंप का मूल केंद्र राजधानी काठमांडू और पोखरा शहर के बीच था.

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एयरपोर्ट पर भारतीयों की मदद के लिए मौजूद भारतीय अधिकारियों के नंबर भी ट्वीट किए हैं.

ये नंबर हैं-

रवि शर्माः 009779818700724

रनवीर भारतीः 009779851107010

नेगीः 00977985107020

झाः 009779818832398

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार