777 भारतीय लौटे, सैकड़ों निकालने बाक़ी

  • 26 अप्रैल 2015

भारत भूकंप के बाद नेपाल के अंदर राहत और बचाव कार्य में जुटा है. साथ ही भारतीय राहत एवं बचाव दल नेपाल में फंसे भारतीयों को भी बाहर निकाल रहे हैं.

इसके अलावा भारत के प्रभावित हिस्सों में भी राहत और बचाव अभियान को तेज़ किया जा रहा है. नेपाल में अब तक इस भूकंप के चलते 2352 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है.

भारतीय विदेश मंत्रालय के सचिव एस जयशंकर के अनुसार इस अभियान में 13 सैन्य और 3 सिविल एयरक्राफ्ट भेज रहा है.

जयशंकर के मुताबिक शनिवार को 540 भारतीयों को वापस लाया गया था. जबकि रविवार को 237 लोगों को काठमांडू से दिल्ली लाया जा चुका है.

भारत की कोशिशें- 10 बड़ी बातें

1. भारतीय विदेश सचिव एस जयशंकर के मुताबिक भारत शनिवार को कुल 540 लोगों को नेपाल से भारत लाने में सफल रहा. रविवार को 237 को भारत लाया गया और 267 और भारतीय को भारत लाने की तैयारी है. एक तीसरा विमान संभवत: 130 से ज्यादा लोगों को देर रात भारत ला सकता है.

इमेज कॉपीरइट AP

2. भारत नेपाल में राहत और बचाव कार्य के लिए 13 सैन्य और 3 नागरिक विमान तैनात कर रहा है. इसमें से 5 सैन्य विमान नेपाल में लैंड कर चुके हैं.

3. भारत ने सनौली, उत्तर प्रदेश और रक्सौल, बिहार से सड़क मार्ग के ज़रिए नेपाल में फंसे भारतीयों को लाने के लिए 35 बसों को तैनात किया है.

4. वहीं भारतीय सेना के बयान के मुताबिक नेपाल में 18 मेडिकल टीम को तैनात किया गया है, इनमें से 6 टीमें नेपाल पहुंच चुकी हैं.

5. भारत नेपाल में 10 इंजीनियरिंग टॉस्क फोर्स भी तैनात कर चुका है.

6. संचार संपर्क स्थापित करने के लिए भारत 10 सेटेलाइट फ़ोन नेपाल भेज चुका है.

7. दस हज़ार कंबल और एक हज़ार टेंट भेजने की तैयारी की जा रही है.

8. रविवार को एनडीआरएफ की तीन टीमें नेपाल पहुंची हैं. जबकि शनिवार को 7 टीम पहुंच चुकी थीं.

9. नेपाल सरकार की मांग पर काठमांडू ऑक्सीज़न प्लांट के लिए भारत 300 ऑक्सीज़न सिलिंडर भेज रहा है.

10. विभिन्न मंंत्रालयों के वरिष्ठ प्रतिनिधियों की एक टीम नेपाल जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार