बंगाल निकाय चुनावों में तृणमूल भारी

बंगाल में चुनाव इमेज कॉपीरइट pti

पश्चिम बंगाल में 92 नगरपालिकाओं के लिए हुए चुनावों में भारी जीत हासिल करते हुए ममता बनर्जी की सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस ने अपना दबदबा बनाए रखा है.

पार्टी ने कोलकाता नगर निगम की 144 में से 114 सीटें जीत ली हैं. हालांकि कुछ हलक़ों से हिंसा और धांधली के आरोप उठे हैं.

बीजेपी को झटका

राजधानी में सीपीएम की अगुवाई वाले लेफ्ट फ्रंट को 15, कांग्रेस को पांच और भाजपा को सात सीटों से ही संतोष करना पड़ा. बाकी तीन सीटें अन्य दलों को मिली हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

कोलकाता नगर निगम के लिए 18 अप्रैल को मतदान हुआ था जबकि बाक़ी 91 नगर पालिकाओं के लिए 25 अप्रैल को वोट पड़े थे.

राज्य की बाक़ी 91 नगरपालिकाओं में भी 71 पर तृणमूल का कब्ज़ा हो गया है.

उसने दो नगरपालिकाओं में सभी सीटें जीते जीत ली हैं.

लेफ्टफ्रंट ने छह और कांग्रेस ने पांच नगरपालिकाओं में जीत हासिल की है जबकि दस नगरपालिकाओं में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है.

पिछले लोकसभा चुनावों के बाद प्रमुख विपक्षी ताकत के तौर पर उभरने का सपना देख रही भाजपा को नतीजों से करारा झटका लगा है.

उसे किसी भी नगरपालिका में जीत नहीं मिली है.

'धांधली का आरोप'

Image caption लेफ्ट फ्रंट के अध्यक्ष विमान बसु

तृणमूल कांग्रेस ममता बनर्जी ने कहा कि विपक्ष के तमाम कुप्रचार के बावजूद लोगों ने तृणमूल पर ही भरोसा जताया है.

दूसरी ओर, लेफ्टफ्रंट के अध्यक्ष विमान बसु ने कहा, ‘मुक्त और निष्पक्ष चुनाव होने की स्थिति में तस्वीर कुछ अलग होती.’

कांग्रेस और भाजपा ने तृणमूल पर बड़े पैमाने पर चुनावी धांधली का आरोप लगाया है.

अगले साल के विधानसभा चुनावों से पहले हुए इन चुनावों को तमाम राजनीतिक दलों के लिए शक्ति परीक्षण का एक अहम मौका माना जा रहा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार