किसान की आत्महत्या, पत्नी का आत्मदाह

  • 1 मई 2015
किसान इमेज कॉपीरइट AP

गुजरात के एक गांव से पहले तो एक किसान की आत्महत्या और फिर उनकी पत्नी के ख़ुद को जला लेने का मामला सामने आया है.

किसान हरेश रबाड़िया ने कथित तौर पर फसल की बर्बादी के बाद आत्महत्या कर ली.

मृत किसान की पत्नी, भवीषा रबाड़िया ने इसके बाद ख़ुद को जला लिया. घटना में भवीषा की मौत हो गई है.

गुजरात की घटना

बात गुजरात, राजकोट के गांव भड़ेर की है, जहां 34 साल के हरेश ने फसल बर्बाद होने पर फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली

हरेश ने घर के छत से लटक कर आत्महत्या की थी.

घटनास्थल से हरेश का सुइसाइड नोट बरामद किया गया है. पर पुलिस का कहना है कि इसमें फसल के ख़राब होने का कोई ज़िक्र नहीं है.

इमेज कॉपीरइट AP

राजकोट के डीएसपी अजीज़ सिंधी ने बताया, "वह निचले मध्यम वर्गीय परिवार से थे. उन्होंने अपने सुइसाइड नोट में ज़िंदगी से परेशान होने के बारे में लिखा है पर इसमें उन्होंने अपनी माली हालत के बारे में कुछ नहीं लिखा."

पति के शव के सामने लगाई आग

पति की आत्महत्या के बाद हरेश की 31 वर्षी पत्नी भवीषा ने बुधवार को पति के शव के सामने ख़ुद को आग लगा ली.

सिंधी ने बताया, "भवीषा रबाड़िया अपने पति की असमय मौत से बेहद दुखी थीं. उन्होंने अपने आप को आग लगा कर आत्हत्या कर ली."

उन्होंने बताया कि भवीषा 6 माह के अपने बच्चे को दूध पिलाने के बहाने उस कमरे में गई जहां हरेश का शव रखा हुआ था.

सिंधी ने बताया, "थोड़ी ही देर में परिवार के सदस्यों ने कमरे से आग और धुंआ निकलता देखा. सब वहां भाग कर पहुंचे पर तब तक भवीषा बुरी तरह जल चुकी थी, वहीं घटनास्थल पर उनकी मौत हो गई."

इस मामले में हादसे में मौत का केस दर्ज किया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार