जयललिता भ्रष्टाचार के मामले में बरी

  • 11 मई 2015
इमेज कॉपीरइट AFP

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता को आय से अधिक संपत्ति के एक मामले में कर्नाटक हाई कोर्ट ने बरी कर दिया है.

ट्रायल कोर्ट ने अनुचित तरीके से 54 करोड़ रुपए जमा करने का दोषी ठहराते हुए पिछले साल उन्हें चार साल की सज़ा सुनाई थी.

इसके लिए ख़िलाफ़ उन्होंने कर्नाटक हाई कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की थी.

इस पर सुनवाई करते हुए कर्नाटक हाई कोर्ट ने सोमवार को उन्हें और वीके शशिकला, वीएन सुधाकरण और जे इल्यारसी को भी बरी कर दिया गया है.

इस फैसले के बाद जयललिता के समर्थकों और एआईएडीएमके कार्यकर्ताओं जश्न शुरू कर दिया है.

पिछले साल दोषी ठहराए जाने के बाद जयललिता को मुख्यमंत्री पद छोड़ना पड़ा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)