डेटिंग वेबसाइट से पाइए जीवनसाथी

भारत में भले ही पारंपरिक तरीके से शादी करने का चलन है. लेकिन आज के युवाओं के पास शायद काम और अन्य वजहों के चलते वक़्त कुछ कम है, जिसके चलते वह जीवनसाथी की तलाश में ज़रा पीछे रह गए हैं.

उनकी इसी व्यस्तता की वजह से शहरों में कई डेटिंग वेबसाइट उभर आई हैं जो इस मुश्किल का हल पेश करती हैं.

ये वेबसाइटें ऐसे युवाओं को मिलवाने का काम करती हैं जो जीवनसाथी की तलाश में हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

देश की आधी जनसंख्या की औसत आयु 30 साल से कम है. ऐसे में इन इनके लिए काफी संभावनाएं मौजूद हैं.

'प्लेटफॉर्म'

ऐसी ही एक डेटिंग वेबसाइट 'ए वर्ल्ड अलाइक' की को-फाउंडर देवीना बधवार कहती हैं, ''मुझे लगता है कि हम युवाओं को ऐसा प्लेटफॉर्म दे रहे हैं जहां वे अपने जैसे युवाओं से मिल सकते हैं.''

''देश में अरेंज मैरिज तो अब भी होती है लेकिन मेरे ख़्याल से युवा अपनी मर्ज़ी से जीवनसाथी चुनना चाहते हैं.''

जीवनसाथी चुनने के इच्छुक युवाओं को पहले वेबसाइट पर खुद को रजिस्टर करना होता है.

इसके बाद वेबसाइट की तरफ से उन्हें एक अनौपचारिक बैठक के लिए बुलाया जाता है और बातचीत के बाद, सही लगने पर, उसे अपने साथ जुड़ने का निमंत्रण दिया जाता है.

इमेज कॉपीरइट afp

इसके बाद संबंधित व्यक्ति रकम अदा करके इस वेबसाइट का सदस्य बन सकता है.

वेबसाइट की ओर से दी गई ऐसी ही एक पार्टी में पहुंची करिश्मा सरना कहती हैं, ''अपने ही जैसे लोगों से मिलकर अच्छा लगता है. पहले मुझे लगता था कि मैं ही अकेली हूं, लेकिन यहां आकर ऐसा लगता है कि मेरे जैसे और भी हैं.''

उन्होंने आगे बताया, ''हालांकि अभी तक मैं ऐसे व्यक्ति से नहीं मिल पाई जो मेरा जीवनसाथी बन सके, लेकिन हां कुछ अच्छे लोगों से दोस्ती ज़रूरी हुई है.''

डेटिंग एप्स भी मौजूद

हालांकि अगर आप शुरू में अनजान लोगों से मिलने में सहज नहीं हैं तो आपके लिए डेटिंग ऐप्स भी मौजूद हैं. ऐसा ही एक ऐप है 'ट्रूली मैडली'.

इस ऐप को क़रीब पांच लाख लोग डाउनलोड कर चुके हैं. इस ऐसे जुड़े सचिन भाटिया कहते हैं, ''इस ऐके ज़रिए आप घर बैठे अपने मनचाहे व्यक्ति से संवाद कर सकते हैं, उनसे मिलने की ज़रूरत नहीं है.''

''अगर आपको व्यक्ति पसंद आता है तभी उससे मिलिए नहीं तो कोई बात नहीं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार