राजस्थान में अांधी, 13 की मौत

  • 20 मई 2015
इमेज कॉपीरइट BBC World Service

राजस्थान में मंगलवार को तेज़ हवाओं और धूल भरी आंधी के असर से कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई और करीब 130 लोग घायल हो गए.

करीब सौ किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चली तेज़ हवाओं के असर से सबसे ज्यादा नुकसान बीकानेर और भरतपुर शहरों में हुआ है.

राजस्थान समेत उत्तर भारत के राज्यों में मंगलवार को अचानक मौसम बदल गया. दोपहर के बाद धूल भरी आंधी चलने लगी थी.

राजस्थान पुलिस के मुताबिक आंधी की वजह हुए हादसों की चपेट में आकर भरतपुर में चार, धौलपुर, जयपुर, बीकानेर और सवाईं माधोपुर में भी दो-दो लोगों की मौत हो गई. इन ज़िलों में करीब 130 लोग घायल भी हो गए.

बड़ा नुकसान

तेज़ हवाओं के असर से राजस्थान के कई शहरों में पेड़ और बिजली खंभे उखड़ गए. हवाएं इतनी तेज़ थीं कि ट्रांसफार्मर भी ज़मीन पर गिर गए. बीकानेर में कम से कम एक हज़ार बिजली के खंभे उखड़ गए.कच्चे घरों की छतों से छप्पर और टीन टप्पर उखड़ गए.

मौसम विभाग के मुताबिक उत्तरी राजस्थान में पश्चिमी विक्षोभ से आए बदलाव के कारण तेज़ हवाएं और आंधी चली.

जयपुर में 76 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं. राज्य के कुछ हिस्सों में हवाओं की रफ्तार सौ किलोमीटर प्रतिघंटा से ज्यादा थी. कुछ स्थानों पर बारिश के साथ ओले भी गिरे.

मुआवज़े का एलान

इमेज कॉपीरइट AFP

राज्य सरकार ने हादसे में मारे गए लोगों के परिजन के लिए 4-4 लाख रुपये मुआवजे का एलान किया है.

आंधी की वजह से पड़े और खंभे गिरने से कई जगह सड़कें बंद हो गईं. इसका असर यातायात पर पड़ा. कई शहरों में बिजली भी गुल हो गई.

आंधी के बाद हुई हल्की बारिश के असर से तापमान में कमी आई. राजस्थान के अलावा दिल्ली, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आंधी और बारिश की वजह से गर्मी से राहत मिली.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार