मोदी के इलाक़े में ये कौन वाहवाही लूट रहा है?

  • 25 मई 2015
बीजेपी दफ़्तर, वाराणसी

वाराणसी में नरेंद्र मोदी और उनके विकास के वादे के बीच एक शख्स और हैं जो अपने नंबर बढ़ा रहे हैं.

समाजवादी पार्टी के विधायक सुरेन्द्र पटेल ने बनारस के दूसरे भाजपा विधायकों और नरेंद्र मोदी के 'मिनी पीएमओ' की नींद उड़ा रखी है.

सांसद मोदी के चुनाव क्षेत्र में आने वाली सेवापुरी विधानसभा सीट से विधायक और अखिलेश यादव की प्रदेश सरकार में मंत्री सुरेन्द्र पटेल का ज़ोर बनारस पर ही है.

वजह साफ़ है. भारी मतों से सांसद मोदी को जिताने के बाद बनारस वासियों की उम्मीदें काफ़ी बढ़ चुकी हैं और किसी और के विकास से जुड़ने पर उसका नज़र में आना स्वाभाविक है.

दावा

इमेज कॉपीरइट SUSHANT

उत्तर प्रदेश सरकार में पीडब्ल्यूडी और सिंचाई मंत्री सुरेन्द्र पटेल का दावा है कि उन्होंने अकेले वाराणसी संसदीय क्षेत्र में ही करीब 1000 करोड़ रुपए की परियोजनाओं पर काम शुरू करवा दिया है.

बीबीसी से बातचीत में उन्होंने कहा, "हम कहते नहीं हैं, करने में भरोसा रखते हैं. सिर्फ़ रोहनिया और सेवापुरी क्षेत्र में ही हमने 11 नई सड़कों का उद्घाटन किया है. शहर में कुल सात पुल और फ्लाईओवर का निर्माण शुरू हो रहा है. वाराणसी में विकास के लिए 300 करोड़ रुपए तो शासन के पास पहुँच ही चुके हैं, शेष 700 करोड़ भी जल्द सैंक्शन हो जाएंगे".

पिछले हफ़्ते ही सुरेन्द्र पटेल ने कुछ शिलान्यास किए थे और ज़ाहिर है ज़िले में उन्हें विकास के साथ जोड़ना कुछ लोगों को समझ में नहीं आ रहा है.

गलत इस्तेमाल

वाराणसी में भारतीय जनता पार्टी के नेता इस बात से कतई इत्तेफ़ाक़ नहीं रखते कि सुरेन्द्र पटेल आम लोगों के हित में ही ये काम करने का दावा कर रहे हैं.

भाजपा नेताओं को ख़ास तौर से ये बात बिल्कुल नागवार गुज़र रही है कि सुरेन्द्र पटेल हर जगह उद्घाटन करने लखनऊ से वाराणसी पहुँच जाते हैं.

वाराणसी उत्तर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक रविन्द्र जायसवाल के अनुसार इस 'झूठी' वाहवाही की ज़रूरत नहीं.

उन्होंने बीबीसी से कहा, "मैं बहुत नाराज़ हूँ. ये जो हमारे मंत्री जी है, प्रदेश सरकार की सभी उन चीज़ों का उद्घाटन करने पहुँच जाते हैं जिनका कोई महत्व ही नहीं है. ये नगर निगम कार्यों का भी उद्घाटन करने को तत्पर रहते हैं जबकि ऐसे निर्माण करना निगम की ज़िम्मेदारी ही है."

विकास

इमेज कॉपीरइट SUSHANT
Image caption सुरेन्द्र पटेल प्रदेश सरकार में मंत्री हैं.

भाजपा नेताओं का आरोप है कि जनता के सामने अपनी उद्घाटन की तस्वीरें छपवा कर कोई भी वाहवाही लूट सकता है और 'मंत्री जी वही कर रहे हैं'.

लेकिन सुरेन्द्र पटेल जवाब में कहते हैं, "मोदी जी ने अच्छे दिनों का वादा किया था. बनारस में कहाँ आए अच्छे दिन? अगर मैं विकास करने में जुटा हूँ तो लोग मेरा नाम क्यों नहीं लेंगे".

ज़ाहिर है कि सुरेन्द्र पटेल को इस बात का फ़ायदा मिलता है कि वे प्रदेश सरकार के मंत्री हैं और राज्य में सरकार भाजपा की नहीं, सपा की है.

लेकिन स्थानीय भाजपा नेता भी क्षेत्र में हज़ारों करोड़ रुपए के विकास शुरू होने का दावा कर रहे हैं और इसलिए हालात आगे और भी दिलचस्प रहेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार