दिल्ली में दलालों की जगह नहीं: मोदी

  • 25 मई 2015
नरेंद्र मोदी (फ़ाइल फोटो) इमेज कॉपीरइट Getty

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार का एक साल पूरे होने के मौके पर भी अपनी उपलब्धियां गिनाने से पहले, पिछली यूपीए सरकार की कारग़ुजारी पर ही निशाना साधा. नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब दिल्ली में दलालों की कोई जगह नहीं है.

वे अपनी सरकार के एक साल पूरा होने के मौके पर मथुरा में जन कल्याण रैली को संबोधित कर रहे थे.

उनका कहना था कि यूरिया पर नीम की कोटिंग से अब इसकी चोरी नहीं होगी, सेल्फ़ एफ़िडेविट करके भारत के नागरिकों पर भरोसा किया जाएगा, किसी भी व्यक्ति की न्यूनतम पेंशन 1000 रुपए होगी और आने वाले दिनों में 1300 क़ानून ख़त्म किए जाएंगे.

'अच्छे दिन आए कि नहीं?'

उन्होंने लोगों से पूछा - "पिछले एक साल में किसी घोटाले की बात सुनी? तो अच्छे दिन आए या नहीं आए? कुछ लोगों के बुरे दिन आए हैं, जिनके इशारे पर 60 साल तक फ़ैसले होते थे...उनके और बुरे दिन आ सकते हैं...दिल्ली में दलालों की कोई जगह नहीं है."

जनसंघ के नेता दीनदयाल उपाध्याय के गांव नगला चंद्रभान में हुई रैली में उन्होंने पिछली सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, "एक साल पहले कितने बुरे दिन थे, कितने बुरे कर्म थे, कितनी बुराइयों से भरा माहौल था. एक साल बाद का ये परिवर्तन मोदी नहीं लाया, आप लाए हैं."

गांधी, लोहिया और दीनदयाल

इमेज कॉपीरइट BJP

मोदी ने कहा कि भारत की राजनीति को तीन महान चिंतकों ने प्रेरणा दी है - महात्मा गांधी, राम मनोहर लोहिया और दीनदयाल उपाध्याय.

उनका कहना था कि तीनों के चिंतन में देश का ग़रीब, किसान और मज़दूर रहा है. उन्होंने कहा, "हमारी सरकार इन्हीं के चिंतन पर आगे बढ़ रही है."

मोदी ने कहा, "एक साल पहले रोज़ नया घोटाला सामने आता था, अफ़सरों के जेल जाने की नौबत आती थी. मैंने कहा था कि प्रधानमंत्री नहीं प्रधान संतरी बनकर आपके हितों की रक्षा करूँगा और कर रहा हूँ."

कोयले की खदानें लूटी गईं

इमेज कॉपीरइट Reuters

मोदी ने कहा कि देश को रिमोट कंट्रोल सरकार से मुक्ति मिल गई है.

उन्होंने आरोप लगाया कि धन्ना सेठ की जेब में बैठे लोगों ने कोयले की ख़दानें लूट ली थीं. मोदी ने कहा, "हमने सिर्फ़ 29 खानों की नीलामी से तीन लाख करोड़ सरकारी खजाने में जमा किए."

अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 15 करोड़ लोगों के बैंक में खाते खुले. गैस सिलिंडर की सब्सिडी सीधे बैंक खाते में पहुँचाई, 12 करोड़ से ज़्यादा लोगों को इसका फ़ायदा.

किसानों की परवाह

इमेज कॉपीरइट AP

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार को किसानों की परवाह है. तीन साल में हर किसान के हाथ में सॉयल हेल्थ कार्ड होगा.

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के ज़रिए नदियों को जोड़ा जाएगा, जल संचय योजनाएं शुरू होंगी. उर्वरक कारखानों की क्षमता बढ़ाई जाएगी. यूरिया पर नीम का कोटिंग लगाना शुरू किया. केमिकल फैक्ट्रियों में इसे इस्तेमाल नहीं हो पाएगा.

उन्होंने कहा कि एक साल पूरा होने पर किसी राजधानी या बड़े शहर में रैली आयोजित कर सकते थे, लेकिन उन्होंने पार्टी को सलाह दी कि इसे अंत्योदय का मार्ग दिखाने वाले पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जन्मस्थली में आयोजित किया जाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार