गूजर समुदाय और सरकार बातचीत पर राज़ी

  • 26 मई 2015
gujjar इमेज कॉपीरइट Narayan Bareth

राजस्थान में आरक्षण के लिए आंदोलन कर रहे गूजर नेता और सरकार दूसरे दौर की बातचीत के लिए राज़ी हो गए हैं.

इसके लिए गूजर आरक्षण समिति के 11 प्रतिनिधि आंदोलन स्थल से जयपुर के लिए रवाना हो गए हैं और किसी भी क्षण वहाँ पहुँचने वाले हैं.

आंदोलनकरियों ने 21 मई शाम से दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग बाधित कर रखा है.

इसके साथ जयपुर-आगरा सड़क मार्ग और कुछ अन्य सड़कों पर भी आवाजाही बंद है.

हंगामा और तोड़फोड़

इमेज कॉपीरइट NARAYAN BARETH

नौकरियों में आरक्षण की मांग को लेकर गूजर समुदाय के लोग एक बार फिर सड़कों पर हैं.

दौसा में मार्ग अवरुद्ध करने को लेकर नागरिकों के एक समूह और गूजर समाज के लोगों में टकराव के हालत बन गए थे.

इमेज कॉपीरइट NARAYAN BARETH

आंदोलनकारियों ने कई जगह वाहन तोड़े और दौसा के सिकंदरा में बाज़ार में दुकानों को नुकसान पहुंचाया है.

मंगलवार को हालात तब तनावपूर्ण हो गए जब तोड़फ़ोड़ का स्थानीय लोगों की ओर से विरोध होने पर उग्र भीड़ बाज़ार में जमा हुई. पुलिस को दखल देना पड़ा.

दूसरे दौर में बैंसला नहीं

इमेज कॉपीरइट Narayan Bareth

गूजर नेताओं का जो एक प्रतिनिधिमंडल जयपुर के लिए रवाना हुआ है, उसमें किरोड़ी सिंह बैंसला शामिल नहीं है.

वे पहले दौर की बातचीत में शामिल हुए थे.

गूजर आरक्षण समिति के प्रवक्ता हिम्मत सिंह ने कहा," सरकार ने बातचीत का न्योता दिया, गूजर समाज ने स्वीकार कर लिया."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार