फिर बनेगी मैगी, पर पता नहीं कब

  • 5 जून 2015
पॉल बुल्के इमेज कॉपीरइट REUTERS

मैगी नूडल्स बनाने वाली कंपनी नेस्ले ने कहा है कि भारत में बिक रही मैगी पूरी तरह सुरक्षित है.

पिछले कुछ दिनों से मैगी पर चल रहे विवाद के बाद कंपनी की स्थिति स्पष्ट करने के लिए नेस्ले के ग्लोबल सीईओ पॉल बुल्के स्विटज़रलैंड से भारत पहुँचे हैं.

पॉल बुल्के ने दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "मैगी को लेकर पिछले कुछ दिनों से कुछ भ्रम की स्थिति बनी है. यही वजह है कि हमने कुछ समय के लिए मैगी को बाज़ार से हटाने का फ़ैसला किया है."

उन्होंने कहा ग्राहकों की सुरक्षा हमारे लिए सर्वोपर्रि है, बुल्के ने कहा, "हमने पिछले दिनों में मैगी के हज़ारों बैच की जाँच की है और ये जाँच में सही पाए गए हैं."

उन्होंने कहा, "भारत में भी मैगी नूडल्स तैयार किए जाते हैं, जैसे कि दुनियाभर में होते हैं."

'भ्रम दूर करने की कोशिशें'

इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत में पिछले दिनों हुई लैब टेस्टिंग में मैगी के कई सैंपल 'फ़ेल' हुए थे. इसके बाद उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, उत्तराखंड, दिल्ली जैसे राज्यों ने मैगी पर प्रतिबंध लगा दिया था.

मैगी में एमएसजी (मोनो सोडियम ग्लूटामेट) मिलाने और लेड की मात्रा स्वीकृत स्तर से अधिक पाए जाने के सवाल पर बुल्के ने कहा, "हम मैगी में एमएसजी नहीं मिलाते और लेड की मात्रा भी स्वीकृत स्तर से बहुत नीचे है."

उन्होंने कहा कि हो सकता है कि जाँच में मिला एमएसजी मसालों से प्राकृतिक रूप से आया हो. इसलिए कंपनी ने पैकेट से ये जानकारी हटाने का फ़ैसला किया है.

लेड के मामले में उन्होंने कहा कि हमारी जांच में लेड का स्तर स्वीकृत स्तर से बहुत नीचे मिला है.

इमेज कॉपीरइट AFP

यह पूछे जाने पर कि क्या नेस्ले भारत के जांच के तरीकों पर संदेह जता रही है, बुल्के ने कहा, "हम भारत के जाँच के तरीकों को समझने की कोशिश कर रहे हैं. इसके लिए हम सभी संबंधित पक्षों से मिल रहे हैं और भ्रम को दूर करने की कोशिश कर रहे हैं."

क्या उन्हें इस विवाद में किसी तरह की साजिश नज़र आती है, उन्होंने कहा, "साजिश के बारे में कोई अनुमान नहीं लगा सकते."

उन्होंने कहा कि नेपाल, ब्रिटेन या दूसरे किसी भी देश से मैगी हटाने की कंपनी की कोई योजना नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार