मैगी पर देशभर में लगा बैन

मैगी इमेज कॉपीरइट Reuters

भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफ़एसएसएआई) ने नेस्ले को देश भर में मैगी के उत्पादन, बिक्री और वितरण पर रोक लगाने के आदेश दिए हैं.

प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वाईएस मलिक ने एक आदेश जारी कर कहा है कि मैगी के 9 स्वीकृत वेरिएंट बेहद ख़तरनाक हैं.

नेस्ले के ग्लोबल सीईओ पॉल बुल्के की अगुवाई में कंपनी के उच्च अधिकारियों ने गुरुवार को प्राधिकरण से मुलाक़ात की थी.

हालाँकि बुल्के ने शुक्रवार को दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दावा किया कि मैगी पूरी तरह सुरक्षित है और लोगों के बीच बनी भ्रम की स्थिति के कारण इसे बाज़ार से हटाया गया है.

कारण बताओ नोटिस

इमेज कॉपीरइट REUTERS

प्राधिकरण ने कंपनी को एक कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है, जिसमें कहा गया है कि प्राधिकरण द्वारा 9 वेरिएंट्स के लिए दी गई मंज़ूरी को क्यों ने वापस ले लिया जाए.

भारत में पिछले दिनों हुई लैब टेस्टिंग में मैगी के कई सैंपल 'फ़ेल' हुए थे. इसके बाद उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, उत्तराखंड, दिल्ली जैसे राज्यों ने मैगी पर प्रतिबंध लगा दिया था.

मैगी में एमएसजी (मोनो सोडियम ग्लूटामेट) और लेड की मात्रा स्वीकृत स्तर से अधिक पाए जाने के बाद इस पर विवाद हुआ था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार