कथित नक्सली मुठभेड़ में ग्रामीण की मौत

इमेज कॉपीरइट SHEKHAR

झारखंड के नक्सल प्रभावित गुमला जिले में कटकाही जंगल के पास पुलिस और माओवादियों के बीच कथित मुठभेड़ में एक स्थानीय ग्रामीण की मौत हो गई है.

पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान ईनामी जोनल कमांडर समेत तीन माओवादियों को गिरफ़्तार किया है.

रांची के आरक्षी उपमहानिरीक्षक (डीआइजी) अरूण कुमार सिंह ने गोलीबारी में एक ग्रामीण के मारे जाने की पुष्टि की है.

उनका दावा है कि नक्सलियों की गोली से मौत हुई है.

बरामद हथियार

इमेज कॉपीरइट SHEKHAR

आरक्षी उप महानिरीक्षक ने माओवादियों के पास से छह राइफलें, 10 हैंडग्रेनेड, आइडी, 300 गोलियां समेत भारी मात्रा में विस्फोटक, नक्सली साहित्य, वर्दी, खाने- पीने के सामान बरामद करने का दावा किया है.

उनका कहना है कि इनमें से एक राइफल पुलिस से लूटी हुई है. इसकी शिनाख्त कर ली गई है.

उन्होंने बताया है कि पुलिस गांव की ओर से ही मोर्चा लगाकर फायरिंग का जवाब दे रही थी.

इस बीच माओवादियों की गोली लगने से घोरहटी गांव के क्रिस्टोफर गिद्ध नामक ग्रामीण बुरी तरह घायल हो गए. तत्काल उन्हें स्थानीय चैनपुर स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया.

मुआवजा

इमेज कॉपीरइट SHEKHAR

मुठभेड़ की ख़बर मिलने के बाद सीआरपीएफ के डॉक्टर को लेकर हेलिकॉप्टर से वे स्वंय गुमला पहुंचे. तब तक ग्रामीण की मौत हो चुकी थी.

पुलिस का कहना है कि नियमानुसार उनके परिजनों को मुआवजा दिलाया जाएगा.

इस घटना में पुलिस का एक जवान भी घायल हुआ है जिसका इलाज स्थानीय अस्पताल में हो रहा है.

आरक्षी उपमहानिरीक्षक का कहना है कि गिरफ़्तार ईनामी नक्सली अशोक लकड़ा ऊर्फ प्रसाद लकड़ा पर दस लाख का ईनाम है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार