अब 'अपनी कार से' ढाका और थिम्पू

नेपाल इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

भारत ने भूटान, बांग्लादेश और नेपाल के साथ एक समझौते पर दस्तख़त किए हैं. इससे इन देशों के बीच वाहनों की निर्बाध आवाजाही हो सकेगी.

इन वाहनों में सवारी और सामान ढोने वाले दोनों ही तरह के वाहन शामिल हैं.

उदाहरण के तौर पर लोग निजी कार से दिल्ली से कोलकाता और ढाका होते हुए थिम्पू जा सकेंगे और उन्हें वाहन बदलने की ज़रूरत भी नहीं होगी.

इमेज कॉपीरइट AP

ये चारों देश दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन यानी सार्क के सदस्य हैं.

भूटान की राजधानी थिम्पू में चारों देशों के परिवहन और राजमार्ग मंत्रियों ने इस समझौते पर सोमवार को दस्तख़त किए.

बांग्लादेश के संचार सचिव एमएएन सिद्दीकी ने कहा, “लोग अब ढाका से थिम्पू या काठमांडू या वहां से वापस भारत के रास्ते अपने वाहनों में यात्रा कर सकेंगे. सीमा पर वाहन बदलना या सामान को लोड करना या उतारना ज़रूरी नहीं रहेगा.”

इमेज कॉपीरइट EPA

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, म्यांमार और थाईलैंड भी सार्क देशों की तर्ज़ पर भारत के साथ समझौते के लिए सहमत हो गए हैं.

इमेज कॉपीरइट PTI

भारत के परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, ''मोटर व्हीकल एक्ट के तहत तीनों देशों ने सार्क देशों की तर्ज़ पर समझौते के लिए सहमति जताई है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार