मोदी ने ट्वीट में 'गांधी परिवार' को उलझाया

  • 26 जून 2015
ललित मोदी

ललित मोदी ने एक बार फिर एक के बाद एक कई ट्वीट कर भारत में आई राजनीतिक गर्मी को और हवा दे दी है.

इस बार ललित मोदी ने सिलसिलेवार ट्वीट्स में 'गांधी परिवार से मुलाक़ात' का जिक्र किया है.

ललित मोदी के इन ट्वीट्स से भाजपा को कांग्रेस पर जवाबी हमला बोलने का मौका मिल गया है.

कांग्रेस वित्तीय अनियमितताओं का आरोप झेल रहे आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की कथित मदद करने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का इस्तीफ़ा मांग रही है.

प्रियंका-रॉबर्ट से मुलाक़ात

इमेज कॉपीरइट AFP

ललित मोदी ने ट्वीट के तीन हिस्सों में गांधी परिवार से अपनी मुलाक़ात का जिक्र किया है.

उन्होंने ट्वीट किया, “लंदन में गांधी परिवार से मिलकर खुशी होगी. मैं प्रियंका और रॉबर्ट से रेस्त्रां में अलग-अलग मिला था.”

मोदी ने लिखा, “वे टिम्मी सरना के साथ थे. उसके पास मेरा मोबाइल नंबर हैं. वे मुझे फोन कर सकते हैं. मैं उन्हें बताऊंगा कि उनके बारे में मैं वास्तव में क्या महसूस करता हूं. कोई डील नहीं होगी.”

मोदी ने एक और ट्वीट किया, “मुझे अच्छी तरह याद है कि पिछले साल या उससे एक साल पहले जब यूपीए की सरकार थी, उस समय मेरी उनसे मुलाक़ात हुई थी. उस वक्त वे सत्ता में थे.”

'ट्वीट्स बचकाना'

इमेज कॉपीरइट PTI

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ललित मोदी के ट्वीट्स को “बचकाना” करार दिया है. उन्होंने कहा, “मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ कह सकता हूं कि न तो प्रियंका गांधी और न ही रॉबर्ट वाड्रा कभी सामाजिक तौर पर ललित मोदी से मिले हैं. यदि आप किसी से रेस्त्रां में मिलते हैं तो ये कोई अपराध नहीं है.”

उधर, भाजपा ने सवाल किया कि कांग्रेस को बताना चाहिए कि उसके नेता क्यों ललित मोदी के संपर्क में थे. भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, “हम पूछना चाहते हैं कि गांधी परिवार क्यों लगातार ललित मोदी के संपर्क में रहा.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार