बिहार निदेशक हत्या: थानाध्यक्ष निलंबित

  • 29 जून 2015
इमेज कॉपीरइट Neeraj Sahay

बिहार के नालंदा ज़िले के मीरपुर गाँव में स्कूल के निदेशक को पीट-पीट कर मारने की घटना में इलाके के थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया गया है.

नालंदा के पुलिस अधीक्षक डॉ सिद्धार्थ ने बीबीसी को यह जानकारी दी.

दरअसल मीरपुर गाँव के ही महेश प्रसाद ने बताया कि सुबह करीब सात-आठ बजे देवेन्द्र प्रसाद सिन्हा पब्लिक स्कूल के दो छात्रों के हॉस्टल से गायब होने की ख़बर मिली.

खोजबीन पर स्कूल के बगल की नहर से दोनों के शव बरामद किए गए. दोनों के मुंह और कान से खून निकल रहा था.

भीड़ ने इल्ज़ाम स्कूल के निदेशक पर लगाया.

बेकाबू भीड़

इसके बाद करीब हज़ार-डेढ़ हज़ार की संख्या में गुस्से में बेकाबू भीड़ जमा हो गई. भीड़ ने स्कूल के निदेशक को बेरहमी से पीटा.

इमेज कॉपीरइट Neeraj Sahay

घायल निदेशक को इलाज के लिए जब पटना के सदर अस्पताल भेजा गया तो उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

पुलिस को जब घटना की सूचना मिली तो वहां पहुंची. पक्की सड़क न होने की वजह से थोड़ा समय लगा.

अतिरिक्त बल भेजने के बाद बच्चों के शव को कब्ज़े में लिया जा सका.

आग लगा दी

गुस्साई भीड़ ने स्कूल में भी आग लगा दी और फिर दो गाड़ियों को भी जला डाला.

वहीं नालंदा के पुलिस अधीक्षक डॉ सिद्धार्थ के अनुसार दोनों मृत बच्चे सागर (लउआर) और रविरंजन (पंचवारा गाँव) के थे.

इमेज कॉपीरइट Neeraj Sahay

दोनों देवेन्द्र प्रसाद सिन्हा पब्लिक स्कूल के छात्र थे. यह स्कूल किसी बोर्ड से जुड़ा नहीं है.

स्कूल के चार बच्चे सुबह शौच के लिए गये थे लेकिन इनमें से दो वापस नहीं लौटे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)