मध्यप्रदेश: व्यापमं घोटाले के संदिग्ध की मौत

इमेज कॉपीरइट VIPUL GUPTA

मध्यप्रदेश के व्यापमं घोटाले के एक और अभियुक्त नरेंद्र सिंह तोमर की मौत हो गई है.

30 वर्षीय नरेंद्र सिंह तोमर 24 फ़रवरी से इंदौर की जिला जेल में थे.

शनिवार रात अचानक उनकी तबियत बिगड़ी जिसके बाद उन्हें इलाज के लिये शहर के महाराजा यशवंतराव अस्पताल ले जाया गया. लेकिन उन्हें अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया.

परिवार का आरोप

वही नरेंद्र सिंह के परिवार और करीबियों ने मामले की सीबीआई जांच की मांग करते हुये शक़ जताया है कि उनके साथ जेल में मारपीट की गई थी.

लेकिन अधिकारियों का कहना है कि मौत की असल वजह पोस्ट मार्टम के बाद ही पता चल पायेंगी.

नरेंद्र सिंह के मित्र सुमित ने बीबीसी को बताया, “कुछ भी स्थिति स्पष्ट नहीं की जा रही है कि किन परिस्थितियों में उनकी मौत हुई है. न तो जेल के अधिकारी, अस्पताल के डाक्टर या फिर पुलिस की तरह से कोई भी जानकारी मिल पा रही है.”

वही पुलिस अधिकारी अजय जैन का कहना है कि उनकी मौत की मजिस्ट्रियल जांच की जायेगी.

नरेंद्र सिंह तोमर मुरैना से ताअल्लुक रखते थे और सहायक पशु चिकित्सा अधिकारी के तौर पर रायसेन में पदस्थ थे.

नरेंद्र सिंह तोमर से पहले व्यापमं घोटाले में जिन लोगों पर आरोप लगे हैं उनमें से 23 लोगों की मौत हो चुकी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार