'देश से बाहर ले जाकर नष्ट कर सकते हैं मैगी'

  • 30 जून 2015
मैगी इमेज कॉपीरइट AFP

मैगी पर लगे प्रतिबंध के खिलाफ नेस्ले इंडिया की याचिका पर मंगलवार को हुई सुनवाई के दौरान बॉम्बे हाई कोर्ट ने नेस्ले को भारतीय बाज़ार से वापस लिया माल देश से बाहर ले जाकर नष्ट करने की इजाज़त दी है.

सुनवाई के दौरान नेस्ले के वकील इकबाल छागला ने अदालत को बताया कि कंपनी ने बीते पखवाड़े में अलग-अलग तरह की मैगी के 11 हज़ार करोड़ पैकेट बाज़ार से हटा लिए हैं. उन्होंने बताया कि और पैकेट बाजार से हटाए जा रहे हैं.

नेस्ल के वकील ने दावा किया कि केंद्र सरकार के आदेशों के अनुसार इतने बड़े स्टॉक को नष्ट करने के लिए कंपनी के पास पर्याप्त सुविधा नहीं है.

इस पर फ़ूड स्टैंडर्ड एंड सेफ्टी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया के वकील महमूद प्राचा ने कहा, "यदि देश में कोई सुविधा नहीं है तो यह सारा स्टॉक देश से बाहर ले जाकर नष्ट किया जाए. इस सुझाव को मानते हुए अदालत ने नेस्ले को मैगी का सारा स्टॉक देश से बाहर ले जाने की इजाज़त दे दी."

निर्यात की ख़बरें

इमेज कॉपीरइट Reuters

दिल्ली स्थित स्वयंसेवी संस्था कंज्यूमर ऑनलाइन ने इस याचिका में हस्तक्षेप करते हुए मैगी पर लगे प्रतिबंध हटाने का विरोध किया है.

संस्था के वकील अहमद अाब्दी ने बीबीसी को बताया, “अदालत ने मैगी के निर्यात की इजाज़त नहीं दी है, जैसा कि मीडिया में आई कुछ खबरों में कहा जा रहा है. कोर्ट ने सारा स्टॉक देश से बाहर ले जाकर नष्ट करने को अनुमति दी है.”

मामले की अगली सुनवाई 14 जुलाई को होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार