जयललिता डेढ़ लाख से अधिक वोटों से विजयी

  • 30 जून 2015
जयललिता, तमिलनाडु इमेज कॉपीरइट AFP

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता आरके नगर से विधान सभा उप-चुनाव भारी अंतर से जीत गई हैं. जयललिता ने सीपीआई के महेंद्रन को 1 लाख 51 हज़ार से अधिक वोटों से हराया. उन्हें कुल 1,60,921 वोट मिले.

जयललिता कर्नाटक हाई कोर्ट से भ्रष्टाचार के एक मामले में बरी होने के बाद इस साल मई में तमिलनाडु की मुख्यमंत्री बनीं. मुख्यमंत्री बनने के छह महीने के भीतर सदन का सदस्य बनना ज़रूरी है.

सितंबर, 2014 में निचली अदालत ने जयललिता को इस मामले में दोषी पाया था. इसके बाद उन्हें मुख्यमंत्री पद छोड़ना पड़ा था और उनकी विधान सभा सदस्यता चली गई थी.

पाँच राज्यों की छह विधान सभा सीटों के लिए उप चुनावों के नतीजे मंगलवार को आए.

उधर केरल की अरुविक्करा विधान सभा सीट के लिए हुए उप-चुनाव में सत्ताधारी कांग्रेस गठबंधन को जीत मिली है.

भाजपा की 5 गुना बढ़त

इमेज कॉपीरइट EPA

अरुविक्करा सीट पर कांग्रेस नेता केएस सबरीनाथन ने अपने क़रीबी प्रतिद्वंद्वी सीपीआई(एम) नेता एम विजयकुमार को 10 हज़ार से अधिक वोटों से हराया.

इस सीट पर भाजपा तीसरे स्थान पर रही लेकिन पिछले चुनाव के मुक़ाबले उसके वोटों में पाँच गुना से ज़्यादा बढ़ोतरी हुई है. भाजपा के प्रत्याशी ओ राजगोपाल को 34, 145 वोट मिले. भाजपा को साल 2011 में 7,694 वोट मिले थे.

केरल में अगले साल विधान सभा चुनाव होने वाले हैं.

मध्य प्रदेश की गरोठ विधान सभा सीट के लिए हुए उप चुनाव में भाजपा के चंद्र सिंह सिसोदिया को विजय मिली है. उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी को 13 हज़ार से अधिक वोटों से हराया.

मेघालय की चोकपोट विधान सभा के लिए हुए उप चुनाव में कांग्रेसी नेता ब्लूबेर आर संगमा ने अपनी क़रीबी प्रतिद्वंद्वी को ढाई हज़ार से ज़्यादा वोट से हराया.

त्रिपुरा की दो विधान सभा सीटों प्रतापगढ़ (अनुसूचित) और सुरमा (अनुसूचित) के लिए हुए उप चुनावों में सत्ताधारी सीपीआई-एम के प्रत्याशियों को जीत मिली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार