नेहरू के दादा को बताया 'मुसलमान'

भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के विकीपीडिया पेज से 'छेड़छाड़' का मामला सामने आया है, जिसमें उनके दादा को मुसलमान बताया गया था.

हालांकि अब इस तरह की जानकारियों को विकीपीडिया ने हटा दिया है.

कांग्रेस का आरोप है कि ये छेड़छाड़ कथित तौर पर केंद्र सरकार के एक आईपी एड्रेस से की गई है.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक़ विकीपीडिया में जानकारी जोड़ने या उन्हें संपादित करने वाले सॉफ़्टवेयर से पता चला है कि नेहरू के पेज में छेड़छाड़ 26 जून को की गई.

सरकार की तरफ़ से इस बारे में कोई बयान नहीं आया है.

जांच की मांग

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption कांग्रेस ने इस मुद्दे पर सरकार को निशाना बनाया है

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, "जवाहरलाल नेहरू और मोतीलाल नेहरू के पेजों में छेड़छाड़ की कोशिश की गई."

उन्होंने कहा, "इससे कोई फ़र्क़ नही पड़ता है कि वो मुसलमान थे या हिंदू, वो एक भारतीय थे. सरकार को इस मामले की पूरी जांच करानी चाहिए."

उनका दावा है कि ये छेड़छाड़ सरकार को सॉफ़्टवेयर मुहैया कराने वाली संस्था नेशनल इंफोर्मेटिक्स सेंटर (एनआईसी) से हुई है.

छेड़छाड़ के तहत जोड़ी गई जानकारी में कहा गया है कि नेहरू के दादा गंगाधर का नाम ग्यासुद्दीन गाज़ी था लेकिन अंग्रेज सरकार के शिकंजे से बचने के लिए उन्होंने हिंदू नाम गंगाधर अपना लिया.

नेहरू के पेज में अंतिम वायसरॉय लॉर्ड माउंडबेटन की पत्नी से उनके 'अंतरंग' संबंधों का भी जिक्र किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार