'बिना इजाज़त' गर्भवती होने पर नहीं होगी सज़ा

  • 5 जुलाई 2015
बच्चा पैदा करने के लिए लेनी होगी पूर्व अनुमति! इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

चीन की एक कंपनी ने महिलाओं के गर्भवती होने को लेकर विवादित योजना खारिज कर दी है.

कंपनी ने कथित रूप से अपने कर्मचारियों से कहा था कि वे गर्भवती होने से पहले प्रबंधन से इजाज़त ले लें.

वहां के सोशल मीडिया में कंपनी का खूब मज़ाक उड़ाया गया है.

रिपोर्टों के मुताबिक हेनान प्रांत की एक वित्त कंपनी ने अपने कर्मचारियों से कहा था कि वे जन्म योजना का फ़ॉर्म भर कर जमा करें.

कंपनी ने जो काग़ज़ बांटा उसमें कहा गया था है कि कंपनी में कम से कम एक साल से काम करने वाली और विवाहित महिलाओं को ही गर्भवती होने की अनुमति दी जा सकती है.

यह इजाज़त भी एक निश्चित समय सीमा के लिए ही दी जा सकती है.

गर्भ पूर्व अनुमति ज़रूरी?

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

रिपोर्टें के अनुसार यह भी कहा गया था कि बग़ैर पूर्व अनुमति के गर्भवती होने वाली कर्मचारियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाएगी.

नियम कायदा न मानने पर एक हज़ार युआन (161 अमरीकी डॉलर) जुर्माने की भी बात सामने आई थी. इसके आलावा सालाना बोनस, प्रमोशन और दूसरे तरह के पुरस्कार पर भी असर पड़ने की बात थी.

कंपनी की ओर से जारी ड्राफट में कहा गया है कि कर्मचारी संतान पैदा करने की जो योजना कंपनी को सौंपेगे, उनका पूरा पालन होना भी ज़रूरी है.

समाचार एजेंसी एएफ़पी ने 'द पेपर' वेबसाइट के हवाले से लिखा है कि कंपनी के एक प्रतिनिधि ने माना कि ऐसी एक योजना स्टाफ़ को बाँटी गई थी लेकिन ये सिर्फ़ एक ड्राफ़्ट था ताकि स्टाफ़ की टिप्पणियाँ ली जा सकें.

ये कैसा फ़रमान

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

समाचार एजेंसी एएफ़पी के मुताबिक़, चीन के सरकारी अख़बार ‘चाइना यूथ डेली’ में एक विशेषज्ञ ने कहा है कि यह कंपनी अपने कर्मचारियों को महज़ उत्पादन में लगा कल-पुर्ज़ा मानती है. उन्हें वह इंसान समझती ही नहीं है.

एक कर्मचारी ने शिकायत के लहज़े में कहा था कि कंपनी के तय किए हुए समय पर ही गर्भवती होने की गारंटी कोई नहीं दे सकता है, यह बिल्कुल नामुमकिन है.

केंद्रीय प्रांत हेनान की कंपनी जियाओज़ू ने बीते दिनों कई महिलाओं को नौकरी पर रखा है. कंपनी परेशान है कि इनमें से बहुत सारी महिलाएं एक साथ ही मां बनने के लिए छुट्टी ले सकती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार