'इस्लामिक स्टेट' ने इसराइल पर रॉकेट दाग़े

  • 4 जुलाई 2015
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption मिस्र की सीमा के पास तैनात इसराइली सैनिकों को सतर्क कर दिया गया है

'इस्लामिक स्टेट' से जुड़े एक गुट ने कहा है कि उसने मिस्र के सिनाई प्रायद्वीप से इसराइल पर एक रॉकेट दाग़ा है.

ख़ुद को 'सिनाई प्रवोविंस' कहने वाले इस गुट का कहना है कि उसने 'मिस्र की सेना को इसराइल के समर्थन' का जवाब देने के लिए ये क़दम उठाया है.

इसराइल का कहना है कि उसके दक्षिणी हिस्से में दो रॉकेट आ कर गिरे हैं लेकिन उनसे कोई नुक़सान नहीं हुआ है.

उत्तरी सिनाई में जारी लड़ाई में बुधवार से मिस्र के 17 सैनिक और 100 'आईएस' चरमपंथियों के मारे जाने की ख़बरें हैं.

ये झड़पें शेख़ ज़ुवैद इलाक़े में मिस्र की सेना के कई ठिकानों पर 'आईएस' के हमलों के बाद शुरू हुईं.

इनकार

इमेज कॉपीरइट
Image caption इस्लामिक स्टेट सोशल मीडिया पर भी सक्रिय है

सिनाई प्रवोविंस ने शुक्रवार को सोशल मीडिया पर रॉकेट हमले की ज़िम्मेदारी ली.

इस गुट ने कहा कि उसने 'क़ब्ज़ाए हुए फिलिस्तीन' की तरफ़ रॉकेट दाग़े हैं.

उधर, गाज़ा की सीमा के नज़दीक इसराइल के एशकोल इलाके में साइरन की आवाज़ें सुनी गईं. लेकिन इसराइल ने इन रॉकेटों से कोई नुकसान होने से इनकार किया है.

इसराइल गाज़ा में शासन करने वाले फिलिस्तीनी गुट हमास पर सिनाई प्रोविंस की मदद करने का आरोप लगाता है जबकि हमास इससे इनकार करता है.

सिनाई प्रायद्वीप से इसराइल की 240 किलोमीटर लंबी सीमा लगती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार