मोदी-शरीफ की मुलाकात दुर्भाग्यपूर्ण: शिवसेना

  • 10 जुलाई 2015
इमेज कॉपीरइट PTI

शुक्रवार को रूस के उफा में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ के बीच मुलाकात को भाजपा की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है.

इससे पहले कांग्रेस भी बयान जारी कर इसे निरर्थक कह चुकी है.

मुलाकात पर प्रतिक्रिया देते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा, ''पाकिस्‍तान जो सीमा पर हरकतें कर रहा है, इसके लिए उसे सबक सिखाना होगा. ऐसी बातचीत से कुछ नहीं होने वाला है."

उन्होंने आगे कहा, ''पाकिस्‍तान ने कल ही सीमा पर संघर्षविराम का उल्‍लंघन किया, जिसमें बीएसएफ का एक जवान शहीद हो गया.''

कश्मीर भारत का अभिन्न अंग

उन्‍होंने कश्‍मीर को भारत का अभिन्‍न हिस्‍सा बताते हुए कहा कि इस पर बातचीत हमें किसी भी हालत में स्‍वीकार नहीं है.

ठाकरे ने कहा कि सरकार को पूरे कश्मीर पर अपना दावा किसी भी सूरत में नहीं छोड़ना चाहिए.

भाजपा की सकारात्मक प्रतिक्रिया

इमेज कॉपीरइट AFP

लेकिन भाजपा ने इस मुलाकात पर सकारात्‍मक प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की है.

पार्टी प्रवक्‍ता एमजे अकबर ने कहा,''पाकिस्तान ने मुंबई हमले में सुनवाई में तेजी लाने का वादा किया है. पाकिस्‍तान को लेकर कांग्रेस के रुख का पता ही नहीं चलता. एक दिन वह कुछ और कहती है और अगले दिन कुछ और.''

वहीं गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पीएम मोदी और शरीफ की मुलाकात के बाद संयुक्‍त बयान को नई संभावनाओं को जगाने वाला बताया.

कांग्रेस ने की आलोचना

इमेज कॉपीरइट PTI

कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा, ''पिछले महीने ही विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज कह रहीं थीं कि जब तक लखवी आजाद घूम रहा है तब तक पाकिस्‍तान से कोई बातचीत नहीं होगी.''

उन्होंने आगे कहा,''पिछले तीन दिनों में बॉर्डर पर दो जवान शहीद हुए. पीएम मोदी को यह जवाब देना चाहिए कि पाकिस्‍तान से आखिर बातचीत की क्‍या जल्‍दबाजी है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार