ट्विटर पर 'भक्त' भगाओ अभियान

इमेज कॉपीरइट Twitter

ट्विटर पर ऐसा कई बार होता है कि आप किसी पार्टी की आलोचना करें तो उस पार्टी के समर्थक (भक्त) आपके पीछे पड़ जाते हैं.

‘भक्तों’ की गाली-गलौज का सामना कई लोगों को अक्सर करना पड़ता है लेकिन अब ऐसे अकाउंटों को ही निशाना बनाया जा रहा है जिनका इस्तेमाल गालियों और भद्दे कमेंट्स के लिए किया जाता है, ट्विटर से उन्हें हटाने की मुहिम चल रही है.

ऐसे दो हैंडल हैं जो गाली-गलौज करने वाले अकाउंटों को न केवल रिपोर्ट कर रहे हैं बल्कि उन्हें सस्पेंड भी करवा रहे हैं.

@Bhakthunters एक ऐसा ही ग्रुप है जो कहता है—“अब भक्तों के दिन पूरे हुए. हम तुम पर नज़र रखे हुए हैं”.

इस ग्रुप का दावा है कि पिछले कुछ दिनों में उन्होंने 10 से अधिक अकाउंट सस्पेंड कराए हैं.

इमेज कॉपीरइट twitter

इस ग्रुप ने अब तक मात्र 15 ट्वीट किए हैं और इसके दो हज़ार से अधिक फ़ॉलोअर हैं.

लेकिन ये अकेला अकाउंट नहीं है. एक और अकाउंट है @AAPTardHunters जिसने हज़ार से अधिक ट्वीट किए हैं और इसके चार हज़ार से अधिक फ़ॉलोअर्स हैं.

इस हैंडल का भी दावा है कि वो आम आदमी पार्टी के गाली-गलौज करने वाले समर्थकों की प्रोफ़ाइल रिपोर्ट करता है और उन्हें सस्पेंड करवाता है. यह हैंडल एटीसी ग्रुप से भी जुड़ा हुआ है

माना जाता है कि ट्विटर पर भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी दोनों के कार्यकर्ता बेहद सक्रिय हैं और कई बार वो अपने ख़िलाफ़ होने वाले ट्वीट्स पर गाली-गलौज भी करते हैं.

इमेज कॉपीरइट twitter

इस बारे में पूछे जाने पर ट्विटर का कहना था, “ट्विटर पर किसी अकाउंट को सस्पेंड करने के लिए एक फ़ॉर्म भरना होता है और उसके बाद ट्विटर जांच करता है कि ये अकाउंट्स वाकई गाली गलौज कर रहे हैं या नहीं”.

ट्विटर प्रवक्ता ने बीबीसी हिंदी से कहा, “हमने हाल में अपनी एक नीति में सुधार किया है, पहले ये धमकी किसी के ख़िलाफ़ सीधी होनी होती थी लेकिन अब अगर कोई किसी के ख़िलाफ़ हिंसा की धमकी देता है या हिंसा को प्रमोट करता है तो वो गाली-गलौज़ वाला ट्वीट माना जाएगा. इसके अलावा अब हमारे पास ये सुविधा भी है कि हम ऐसे किसी भी अकाउंट को एक निर्धारित समय के लिए बंद भी कर सकते हैं”.

ऐसा लगता है कि @Bhakthunters या @AAPTardHunters ने ट्विटर के नियमों को फ़ॉलो करते हुए ही कई अकाउंट सस्पेंड कराए हैं यानी कि किसी भी गाली गलौज वाले अकाउंट को पूरा फ़ॉर्म भरकर रिपोर्ट किया गया और फिर इन अकाउंटों को नियमों का उल्लंघन करता हुआ पाया गया और वे सस्पेंड हो गए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)