असम में बाढ़ के कारण हज़ारों लोग बेघर

  • 18 जुलाई 2015
इमेज कॉपीरइट dlip sharma

असम में लागातार हो रही बारिश के बाद आई बाढ़ के कारण एक बार फिर हज़ारों लोगों को शरणार्थी शिविरों में पनाह लेनी पड़ी है.

चार ज़िले धिमाजी, कोकराझार, लखीमपुर और शोणितपुर बाढ़ से प्रभावित हैं जिनमें शोणितपुर में स्थिति सबसे गंभीर है.

शोणितपुर ज़िले के कई गांवों में ब्रह्मपुत्र नदी की प्रमुख सहायक नदियों गाभरू, सोपिया, चतरंग, सोलेंगी और गोरजुली का पानी घुस गया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

असम सरकार के राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार 16395 लोग अपना घरबार छोड़ शरणार्थी शिविरों मे रहने चले गए हैं.

उतरने लगा है पानी

हालांकि शनिवार शाम तक कई जगहों से पानी निकलने की ख़बर मिली है.

असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने शुक्रवार को एक बयान में कहा था कि बाढ़ से 86,902 लोग प्रभावित हुए है.

इमेज कॉपीरइट DILIP KUMAR SHARMA

उन्होंने जानकारी दी थी बाढ़ की वजह से 16,000 से अधिक लोग बेघर हो चुके है और सरकार ने अलग अलग ज़िलों में 19 शरणार्थी शिविर खोले है.

तरुण गोगोई का कहना था कि अरूणाचल प्रदेश और भूटान का पानी राज्य में घुस आने से यहां बाढ़ की स्थिति अधिक बिगड़ जाती है.

राज्य में फिलहाल बाढ़ की स्थिति नियंत्रण में है और असम सरकार ने इस आपदा से निपटने के लिए सभी तैयारियां कर रखी है.

मौसम विभाग ने असम, अरूणाचल प्रदेश और आसपास के इलाकों में लगातार बारिश होने की संभावना जताई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार