'परदेसी' हुए 61 हज़ार भारतीय करोड़पति

इमेज कॉपीरइट AFP

एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले 14 साल में भारत से टैक्स बचाने, सुरक्षा और बच्चों की शिक्षा जैसी वजहों से 61,000 करोड़पति विदेश 'पलायन' कर गए.

न्यू वर्ल्ड वेल्थ और एलआईओ ग्लोबल की संयुक्त रूप से जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 21वीं सदी की शुरुआत से दोहरी नागरिकता के लिए आवेदनों और जगह बदलने के मामलों में तेज़ी आई है.

रिपोर्ट के अनुसार साल 2000 से 2014 के बीच क़रीब 61,000 करोड़पति भारतीय विदेश में बस गए हैं.

चीन शीर्ष पर

इमेज कॉपीरइट EPA

इसी अवधि में विदेश में बसने वाले करोड़पतियों की सूची में चीन शीर्ष पर है और वहाँ से विदेश का रुख़ करने वाले करोड़पति लोगों की संख्या 91,000 रही.

देश परदेसी होने वाले करोड़पति
चीन 91,000
भारत 61,000
फ्रांस 42,000
इटली 23,000
रूस 20,000

रिपोर्ट के मुताबिक, 'ज़्यादातर भारतीय करोड़पति संयुक्त अरब अमीरात, ब्रिटेन, अमरीका, सिंगापुर और ऑस्ट्रेलिया का रुख़ करते हैं, वहीं चीन के करोड़पति अमरीका, हांगकांग, सिंगापुर और ब्रिटेन का रुख़ करते हैं.'

ब्रिटेन सबसे पसंदीदा

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटेन में बाहर से आने वाले करोड़पति लोगों की संख्या पिछले 14 साल में 1.25 लाख तक पहुँच गई है.

2000-2014 के दौरान किन देशों में कितने करोड़पति आए
ब्रिटेन 1.25 लाख
अमरीका 52,000
सिंगापुर 46,000
ऑस्ट्रेलिया 35,000
हांगकांग 29,000

करोड़पतियों के अपने देश से विदेश में बसने के प्रमुख कारणों में देश में संकट, सुरक्षा कारण और बच्चों को उच्च शिक्षा उपलब्ध कराना शामिल है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार