टाइगर के भाई को फांसी न दो: सलमान

  • 26 जुलाई 2015
याक़ूब मेमन इमेज कॉपीरइट pti
Image caption याक़ूब मेमन को 30 जुलाई को फांसी दी जानी है

बॉलीवुड अभिनेता सलमान ख़ान ने मुंबई धमाकों के दोषी क़रार दिए गए याक़ूब मेमन को फाँसी की सज़ा का विरोध किया है. उन्हें 30 जुलाई को फ़ांसी दी जानी है.

मुंबई में 1993 में सिलसिलेवार धमाकों में 250 से ज़्यादा लोग मारे गए थे. इस मामले में याक़ूब मेमन के भाई टाइगर मेमन भगोड़े हैं.

याक़ूब मेमन को 2007 में विशेष अदालत ने फांसी की सज़ा सुनाई थी जिसे हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने बरक़रार रखा है.

सलमान ख़ान ने ट्वीट कर कहा है, "एक बेग़ुनाह को फाँसी समूची इंसानियत का क़त्ल है."

राष्ट्रपति ने भी याक़ूब मेमन की दया की अर्जी ख़ारिज कर दी.

फिलहाल याक़ूब मेमन ने महाराष्ट्र के राज्यपाल से क्षमा की अपील की हुई है.

'निजी विचार, अवमानना नहीं'

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण से सलमान के ट्वीट्स के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने बीबीसी से कहा, "सलमान ख़ान ने जो ट्वीट किया है वह अदालत की अवमानना नहीं है. उनके पास अपनी राय ज़ाहिर करने का अधिकार है."

प्रशांत भूषण ने कहा, "लेकिन ये कहना सही नहीं होगा कि याक़ूब बेग़ुनाह है. वे भले ही मुंबई धमाकों में संलिप्त न रहे हों, लेकिन हो सकता है उन्होंने असल दोषियों की मदद की हो."

भूषण ने कहा, "मैंने और कई पूर्व न्यायाधीशों ने याक़ूब की फांसी की सज़ा को उम्रकैद में तबदील करने के बारे में एक याचिका राष्ट्रपति के समक्ष भेज रहे हैं. उनका अपराध इतना बड़ा नहीं है कि उन्हें फांसी दी जाए."

'कुछ तो बोलो'

सलमान ख़ान ने ट्वीट किया, "टाइगर के भाई को लटकाया जा रहा है, टाइगर कहाँ है. टाइगर को पकड़ो, उसकी परेड निकालो लेकिन याक़ूब को फाँसी मत दो."

सलमान ख़ान ने मुंबई धमाकों के भगौड़े अभियुक्त और याक़ूब मेमन के भाई टाइगर मेमन से सामने आने के लिए कहा है.

इमेज कॉपीरइट spice

उन्होंने ट्वीट किया, "टाइगर तुम्हारा भाई कुछ दिनों में तुम्हारे लिए फांसी के फंदे पर चढ़ने वाला है. कोई बयान, कोई पता. कुछ तो बोलो...वाह भाई हो तो ऐसा."

उन्होंने आगे ट्वीट किया, "कौन सा टाइगर, कैसा टाइगर, किधर है टाइगर. किधर छुपा है टाइगर? कोई टाइगर नहीं है."

सलमान ख़ान ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ से अनुरोध किया कि यदि टाइगर उनके देश में हो तो बता दें. उन्होंने ट्वीट किया "शरीफ़ साहब एक दरख़्वास्त है कि अगर ये आपके मुल्क में है आप प्लीज़ इत्तिला कर दीजिए."

सलमान ख़ान ने आगे लिखा कि वो पिछले तीन दिनों से इस मुद्दे पर ट्वीट करना चाह रहे थे लेकिन डर रहे थे.

उन्होंने कहा इस मामले में एक व्यक्ति और उसका परिवार भी जुड़ा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए