आठ पार्टियां करेंगी लोकसभा का बहिष्कार: कांग्रेस

इमेज कॉपीरइट AP

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि उनकी पार्टी के 25 सांसदों को निलंबित किए जाने के विरोध में आठ विपक्षी पार्टियां लोकसभा की कार्यवाही का बहिष्कार करेंगी.

स्पीकर सुमित्रा महाजन ने सोमवार को सदन में हंगामे के बीच कांग्रेस के 25 सांसदों को निलंबित कर दिया.

महाजन ने कांग्रेस के इन सभी सांसदों का नाम लेते हुए कहा कि अगर उनका ये रवैया जारी रहा तो भविष्य में उन पर और सख़्त कार्रवाई की जाएगी.

खड़गे ने बीबीसी से बातचीत में स्पीकर के कदम को 'अलोकतांत्रिक' बताया. उन्होंने कांग्रेस के सदस्यों के निलंबन को सरकार के दबाव में उठाया गया क़दम बताया.

उन्होंने कहा कि 25 सांसदों के बिना अन्य कांग्रेस सांसद भी सदन में नहीं जाएंगे.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस के साथ एकजुटता जताते हुए पांच दिन तक सदन की कार्यवाही का बहिष्कार करने का फैसला किया है.

'तानाशाही नहीं चलेगी'

इमेज कॉपीरइट PTI

सोमवार को कांग्रेस के सांसद आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की मदद के आरोपों में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के इस्तीफ़े की मांग करते हुए सदन में तख्ती लेकर आए और उन्होंने नारेबाज़ी की.

वो व्यापमं घोटाले में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को हटाने की भी मांग कर रहे थे.

लोकसभा स्पीकर ने कांग्रेस सांसदों को सदन की कार्यवाही में 'गंभीर व्यवधान पैदा करने पर' पांच दिन के लिए निलंबित कर दिया है.

सुमित्रा महाजन ने उनके निलंबन का आदेश सुनाते हुए कहा, "आप लोग बार-बार सदन के मध्य में आकर शोर कर रहे हैं. सदन की कार्यवाही में बाधा डाल रहे हैं."

लोकसभा अध्यक्ष के फ़ैसले के बाद कांग्रेसी सांसदों ने इसका विरोध करते हुए ज़ोर ज़ोर से "तानाशाही नहीं चलेगी" जैसे नारे लगाए.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)