मध्य प्रदेश में ट्रेन हादसा, 20 की मौत

इमेज कॉपीरइट P Singh

मध्‍य प्रदेश के हरदा ज़िले के नज़दीक कामायनी एक्सप्रेस और जनता एक्सप्रेस के कुछ डिब्बों के पटरी से उतर जाने के कारण कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई है.

भोपाल डिवीज़न के जनसंपर्क अधिकारी आईएस सिद्दीक़ी ने बीबीसी को यह जानकारी दी.

रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने कहा है कि हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं. सेंट्रल ज़ोन के सेफ़्टी कमिश्नर को ये ज़िम्मेदारी दी गई है.

प्रभु ने संसद में इस हादसे पर बयान दिया लेकिन भारी शोर-शराबे के बीच कुछ भी नहीं सुना जा सका.

रेलवे बोर्ड के प्रवक्ता अनिल सक्सेना के मुताबिक़ मारे गए लोगों के परिजनों को दो-दो लाख, गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हज़ार और मामूली रूप से घायलों को 25-25 हज़ार रुपए का मुआवज़ा दिया जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हादसे पर दुख जताया है.

मोदी ने ट्वीट किया, ''मध्य प्रदेश में हुए दोनों ट्रेन हादसे बहुत ही दुखद हैं. मारे गए लोगों के लिए बहुत ही दुख है. मृतकों के परिजनों को सांत्वना.''

उन्होंने आगे लिखा, ''घायलों के साथ मेरी प्रार्थना. लोगों को मदद पहुंचाने के लिए अधिकारी हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं. स्थिति पर नज़र रखी जा रही है.''

हादसा

इमेज कॉपीरइट P singh

हादसा हरदा से 25 किलोमीटर दूर खिड़किया और भिंगरी के बीच मंगलवार की रात क़रीब 1130 बजे हुआ.

सिद्दीक़ी के मुताबिक़ दो सौ से ज़्यादा लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है और राहत कार्य ज़ोरों से चल रहा है.

आपदा में राहत पहुंचाने वाली संगठन एनडीआरएफ़ के महानिदेशक ओपी सिंह ने बताया कि 35 लोगों पर आधारित एनडीआरएफ़ की एक टीम भोपाल से घटनास्थल के लिए भेजी गई है.

भोपाल से सेना की एक टुकड़ी भी भेजी गई है.

ट्रेन पटरी से उतरी

इमेज कॉपीरइट P singh

भोपाल डिवीज़न के डीआरएम आलोक कुमार ने घटनास्थल पहुंचकर बीबीसी से बात की.

उन्होंने बताया, ''यहां एक नहर आती है जिस पर से ट्रेन गुज़रती है. वहां तेज़ बारिश के चलते अचानक से फ्लैश वाटर आने की वजह से क़रीब 150 मीटर ट्रैक के नीचे से मिट्टी निकल गई.''

वो कहते हैं, ''मिट्टी निकलने की वजह से ट्रेन पलट गई और माचक नदी में गिर गई, अधिकतर लोगों की मौत नदी में गिरने की वजह से हुई. इनके अलावा बाक़ी सभी लोगों को बचा लिया गया है.''

इधर नई दिल्ली में रेलवे प्रवक्ता अनिल सक्सेना के मुताबिक़, ''पटरियों पर पानी था और पुल डूबा हुआ था. इस वजह से कामायनी एक्सप्रेस के आख़िरी छह डिब्बे पटरी से उतर गए. लगभग उसी समय दूसरी पटरी पर जनता एक्सप्रेस का इंजन और चार डिब्बे भी पटरी से उतर गए.''

जनता एक्सप्रेस जबलपुर से मुंबई जा रही थी.

रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं.

हरदा हेल्पलाइन: 09752460088

बीना हेल्पलाइन: 07580222052

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)