'पाकिस्तानी चरमपंथी' को पकड़ने का दावा

पकड़ा गया चरमपंथी इमेज कॉपीरइट PTI

भारतीय सुरक्षा बलों ने दावा किया है कि बुधवार को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ़) के काफिले पर हमला करने वाले एक चरमपंथी को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

स्थानीय पत्रकार बीनू जोशी के अनुसार बुधवार को उधमपुर में बीएसएफ़ की टुकड़ी पर एक चरमपंथी हमला हुआ था जिसमें दो जवान मारे गए थे और पाँच घायल हुए थे. सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में एक चरमपंथी की भी मौत हो गई है.

तीन लोग बनाए थे बंधक

इस चरमपंथी ने पास ही के एक गाँव में स्थित एक स्कूल में तीन लोगों को बंधक बना लिया था. समाचार एजेंसी पीटीआई ने उधमपुर के उपायुक्त शाहिद इक़बाल के हवाले से कहा है कि सेना और पुलिस के संयुक्त अभियान में इस चरमपंथी को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

इमेज कॉपीरइट BINU JOSHI

उन्होंने बताया कि सभी बंधकों को मुक्त करा लिया गया है और अभियान खत्म हो गया है.

जम्मू क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक दानिश राणा ने एक समाचार चैनल को बताया कि पकड़ा गया चरमपंथी पाकिस्तान के फ़ैसलाबाद का रहने वाला है.

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, “दुर्भाग्यपूर्ण है कि जिन तीन निहत्थे लोगों ने उसे (चरमपंथी) पकड़ा, उन्हें इसका श्रेय नहीं दिया जा रहा है.”

बीएसएफ़ निशाना

इमेज कॉपीरइट AP

जम्मू-पुलिस के आईजी दानिश राणा ने कहा, ''चरमपंथी खेतों में छिपे हुए थे और वहां से उन्होंने बीएसएफ़ के दस्ते पर फ़ायरिंग की.''

उन्होंने आगे बताया, ''अमरनाथ यात्रा के लिए यात्रियों और सेना का दस्ता निकल चुका था. इसके बाद बीएसएफ़ का दस्ता निकलने ही वाला था कि उस पर यह हमला हुआ.''

हमले के तुरंत बाद बीएसएफ़ के जवानों ने इलाक़े की घेराबंदी कर जवाबी कार्रवाई की.

जम्मू-श्रीनगर हाईवे हमेशा से ही चरमपंथियों के निशाने पर रहा है. यह हाईवे श्रीनगर को बाक़ी देश से जोड़ता है और सुरक्षाबल भी यहीं से गुज़रते हैं ऐसे में यह हमेशा से महत्वपूर्ण रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार