मोदी जी, कोई एक्शन नहीं सिर्फ़ जुमलेबाज़ी..

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट Reuters

ट्विटर पर नरेंद्र मोदी सरकार की कथित नाकामियों पर बहस छिड़ी हुई है और #WeakModiSarkar हैशटैग ट्रेंड कर रहा है.

लोग चरमपंथी हमलोें में तेज़ी, ट्रेन दुर्घटनाओं की बढ़ती संख्या और संस्थानों में अपनी मर्ज़ी की नियुक्तियों जैसी बातों को लेकर मोदी सरकार की आलोचना कर रहे हैं.

@RotduBhakt ने लिखा, "मोदी जी. कोई काम नहीं. सिर्फ़ पब्लिसिटी. कोई एक्शन नहीं सिर्फ़ जुमलेबाज़ी."

@ShankhPaad ने ट्वीट किया, "कमज़ोर मोदी सरकार के उदाहरण. पांच महीने में छह बड़े रेल एक्सीडेंट. क्या हम वाकई बुलेट ट्रेन के लिए तैयार हैं."

इमेज कॉपीरइट AFP

@GauravPandhi का कहना है, "जब हमारे देश पर हमले होते हैं. जब हमारे सैनिक मारे जाते हैं, तब योग और सेल्फ़ी दोनों ही काम नहीं आते. समझे आप."

@ashishksaini ने ट्वीट किया, "चरमपंथी गतिविधियों को देखकर लगता है कि वह मोदी सरकार में टूरिज्म पर भारत आ रहे हैं."

‏अविनाश तंज कसते हुए कहते हैं, "ऐसी सरकार जो कांग्रेस के 25 सांसदों को लोकसभा से बाहर फिकवा दे वो काहे की कमज़ोर सरकार."

जम्मू कश्मीर में बीएसएफ़ के काफिले पर हमले करने में कथित तौर पर शामिल एक चरमपंथी के पकड़े जाने का ज़िक्र करते हुए @Akashiyc ने लिखा, "गांव के लोगों ने खूंखार चरमपंथी को पकड़ा और बीजेपी के नेता अपनी पीठ थपथपा रहे हैं."

समर्थन

इमेज कॉपीरइट EPA

हालांकि कई लोग मोदी सरकार के समर्थन में भी ट्विटर पर मोर्चा खोल चुके हैं.

रविकांत लिखते हैं, "#WeakModiSarkar, कांग्रेस के समर्थकों का चलाया प्रोपगेंडा है और कुछ नहीं."

@sudhirbharg लिखते हैं, "मोदी के नेतृत्व में भारत में ज़बरदस्त आर्थिक प्रगति हो रही है. कौन कहता है कि ये कमज़ोर सरकार है."

@Karan_naraK ने ट्वीट किया, "कांग्रेसी और आप समर्थकों की मिली भगत है ये #WeakModiSarkar ट्रेंड.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)