आज राधे मां से जुड़े मामले की जांच पर रहेगी नज़र

इमेज कॉपीरइट Radhe maa Facebook

रविवार को जिन ख़बरों पर नज़र रहेगी उनमें प्रधानमंत्री मोदी की गया रैली, विवादों में घिरीं धर्मगुरु राधे मां और लापता मलेशियाई विमान के अवशेषों की खोज शामिल है.

बिहार के गया में रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक चुनावी रैली को संबोधित करेंगे.

बिहार में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं. रैली से पहले प्रधानमंत्री मोदी के पोस्टर फाड़े जाने से बीजेपी समर्थकों में रोष भी है.

जनता परिवार बैनर के तले छह दलों के एकजुट हो जाने से बिहार में चुनावी समीकरण दिलचस्प हो गया है.

राधे मां से जुड़े मामले की जांच

इमेज कॉपीरइट Manish Shandilya

मुंबई में पुलिस दहेज प्रताड़ना के केस की जांच कर रही है जिसमें विवादित धर्मगुरु राधे मां पर भी आरोप लगाए गए हैं.

इस मामले में छह अन्य अभियुक्तों के नाम समन जारी किया गया है लेकिन राधे मां पर अभी कोई पुलिस कारवाई शुरू नहीं की गई है.

एक 32 वर्षीय महिला का आरोप है कि राधे मां ने उनके सास ससुर को दहेज की मांग करने के लिए उकसाया था.

पुलिस की जांच और राधे मां से जुड़ी ख़बरों पर आज रहेगी नज़र.

माली में बंदूकधारियों की खोज

माली की पुलिस उन बंदूकधारियों की तलाश शुरू करेगी जिन्होंने देश के केंद्रीय शहर में एक होटल पर कब्ज़ा कर लोगों को बंधक बनाया.

इसमें कम से कम 12 लोग मारे गए जिनमें संयुक्त राष्ट्र के लिए काम करने वाले चार विदेशी भी थे.

एमएच370 का मलबा

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption रियूनियन द्वीप पर मिले बोइंग777 के अवशेष

हिंद महासागर में फ्रांस के रियूनियन द्वीप पर जांचकर्ता रहस्यमयी तरीके से ग़ायब हुए विमान एमएच370 के और अवशेषों की खोज फिर से शुरू करेंगे.

जांचकर्ताओं का प्रयास है कि वे विमानन इतिहास की इस सबसे बड़ी रहस्यमयी घटना पर कुछ और जानकारी हासिल कर सकें.

रूस और हंगरी

इमेज कॉपीरइट RIA Novosti
Image caption रूस के प्रधानमंत्री मेद्वेदेव

रूस के प्रधानमंत्री दिमित्री मेद्वेदेव रूसी शहर क़ज़न में हंगरी के प्रधानमंत्री विक्टोर ओबान से मुलाकात करेंगे.

दोनों नेताओं के बीच व्यापार, निवेश और ऊर्जा संबंधी समझौतों पर बातचीत होगी.

यमन के हालात

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption यमन की राजधानी में हवाई हमलों से क्षतिग्रस्त इमारत

रेडक्रॉस की अंतरराष्ट्रीय समिति के प्रमुख पीटर मॉर यमन की यात्रा तीसरे दिन भी जारी रखेंगे.

उनकी इस यात्रा का मकसद महीनों से युद्ध की स्थिति झेल रहे इस देश में मानवीय हालात का आकलन करना है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार