नीतीशःपचास लाख डीएनए टेस्ट सैंपल भेजेंगे

  • 11 अगस्त 2015
नीतीश, मोदी इमेज कॉपीरइट AFP AP

प्रधानमंत्री मोदी की हाल में ही डीएनए को लेकर की गई टिप्पणी पर एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पलटवार किया है.

सोमवार को लगातार किए गए ट्वीट्स में नीतीश कुमार ने कहा कि वे एक शब्दवापसी अभियान की शुरुआत करेंगे.

"शब्दवापसी के इस महाभियान में कम से कम पचास लाख बिहार के लोग हस्ताक्षर अभियान से जुड़ेंगे और डीएनए टेस्ट के लिए अपना सैंपल भी मोदी जी को भेजेंगे"

क्योंकि बार बार अनुरोध करने के बावजूद प्रधानमंत्री मोदी ने अपने 'अपमानजनक शब्द' वापिस नहीं लिए हैं.

अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, " डीएनए पर मोदी जी का वक्तव्य बिहार और बिहार के लोगों का अपमान है."

मोदी के अपने डीएनए वाले बयान को वापस ना लेने को उन्होंने मोदी जी की 'हठधर्मिता' बताया और कहा कि गया रैली में मोदी ने बिहार के लोगों को बीमारू और दुर्भाग्यशाली बताया, जो कि शोचनीय है.

'स्वाभिमान रैली'

इमेज कॉपीरइट neerajsahay

उन्होने अपने ट्वीट में कहा कि वे शब्दवापसी के इस महाभियान के तहत जगह जगह रैलियां करेंगे.

"हम (अभियान को) बिहार के कोने कोने और हर घर तक ले जाएंगे और साथ ही राज्य के 4-5 क्षेत्रों में स्वाभिमान रैलियां भी आयोजित करेंगे."

अपने ट्वीट में उन्होंने ये भी घोषणा की कि इस अभियान का पहला चरण 29 अगस्त को पटना के गांधी मैदान में एक स्वाभिमान रैली के साथ सम्पन्न किया जाएगा.

इन ट्वीट्स से पहले नीतीश प्रधानमंत्री मोदी को इसी सिलसिले में एक खुला पत्र भी लिख चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार