राहुल की ‘पर्ची’ हुई वायरल

  • 13 अगस्त 2015
राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट Reuters

संसद में बीते बुधवार को राहुल गांधी का सुषमा स्वराज और मोदी सरकार पर हमला चर्चा का विषय बना रहा.

लेकिन गुरुवार तक राहुल की 'पर्ची' की ख़बर सुर्ख़ियों में छा गई.

राहुल के संसद में नोट्स देखकर बोलने की ख़बर मीडिया में आने के बाद वे फिर सोशल मीडिया पर छा गए.

राहुल की पर्ची #CheatSheet और #PappuSoDuffer हैशटेग के साथ वायरल हो गई है और लोग इस पर राहुल की तीखी आलोचना कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट INC
Image caption इसी साल मई में राहुल दिल्ली स्थित नेपाल दूतावास गए थे और वहाँ आगंतुक पुस्तिका में भूकंप पीड़ितों के लिए संवेदनाएं ज़ाहिर की. उन्हें मोबाइल से संदेश की नकल कर लिखते हुए देखा गया था.

नितिन त्यागी का कहना है, ''ये पर्ची के बिना बोल भी नहीं सकते और कांग्रेस चाहती है कि ये हमारा नेतृत्व करें. क्या मज़ाक़ है?''

सुनील कुमार माली कहते हैं, ''इस ट्रेंड के बाद उन्हें दुख होगा कि वे ट्विटर पर हैं ही क्यों.''

अवनीश कुमार झा ने लिखा है, ''पास होना नहीं है खेल, ... फिर से हो गया फ़ेल.''

इमेज कॉपीरइट INC

प्रणय गोंडोले कहते हैं, ''तुमसे ना हो पाएगा!! प्रधानमंत्री पद के तथाकथित दावेदार एक पर्ची से पढ़ रहे हैं जिसमें बड़े अक्षरों में साफ़-साफ़ लिखा गया है.''

कुलदीप सिंह कहते हैं, ''रहने दो... तुमसे ना हो पाएगा... समय आ गया है अब हथियार डाल दो.''

वैभव तिवारी कहते हैं, ''इन्होंने आज दो चीज़ें साबित की, पहला कि वे पढ़ सकते हैं, दूसरा कि वे सोच सकते हैं.''

सुरजीत सिंह का कहना है, ''पांच लाइन बिना पढ़े बोल नहीं सकते हमारे नेताजी. रोमन हिंदी में चीटशीट लिखकर दुनिया को खूब बेवकूफ बनाइये नेताजी...''

इमेज कॉपीरइट Getty

कुछ लोग राहुल का समर्थन भी करते हैं.

पंकज कुमार कहते हैं, ''पप्पू से ज़्यादा डफ़र वो लोग हैं जो पप्पू के बेसिर-पैर की बातों पर ज़ोर-ज़ोर से ताली बजाते रहते हैं.''

मितेश साहू ने लिखा है, ''लोग अपने प्रेज़ेंटेशन और स्पीच के नोट्स लेते हैं. इसमें बड़ी बात क्या है? पुरानी ग़लतियों से सीखकर वे अब तैयारी कर रहे हैं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार