'राधे मां' को राहत, गिरफ़्तारी पर रोक

'राधे मां' इमेज कॉपीरइट Radhe maa Facebook

मुंबई हाई कोर्ट ने विवादों से घिरी 'राधे मां' की अग्रिम ज़मानत याचिका को मंजूर कर लिया है.

उनकी गिरफ़्तारी पर 26 अगस्त तक रोक लगा दी गई है.

अदालत ने उन्हें 19 और 26 अगस्त को सुबह 11 बजे से दोपहर बाद एक बजे तक कांदीवली पुलिस स्टेशन में हाज़िर रहने को कहा है.

इमेज कॉपीरइट rishi kapoor tweet

मुंबई पुलिस ने उनसे लंबी गहन पूछताछ की है. पुलिस अफ़सरों ने उनसे पूछताछ के लिए लगभग 70-80 सवालों की सूची तैयार की थी.

भक्तों का कहना है कि राधे मां पूरी तरह निर्दोष हैं और जो आरोप लगे हैं वे उनके रिश्तेदारों पर हैं, उन पर नहीं.

एक 32 वर्षीया महिला ने आरोप लगाया है कि 'राधे मां' ने उनके सास ससुर को दहेज़ मांगने के लिए उकसाया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)