यूएई साढ़े चार लाख करोड़ निवेश करेगा: मोदी

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के विकास में यूएई में बसे प्रवासी भारतीयों के योगदान को सराहा है.

दुबई क्रिकेट स्टेडियम में तक़रीबन 50 हज़ार प्रवासियों के बीच मोदी ने कहा, "परमाणु परीक्षण के बाद भारत पर जब अाार्थिक प्रतिबंध लगा तो खाड़ी देशों में काम कर रहे भारतीयों के भेजे पैसे से बड़ी राहत मिली."

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस दौरे में ही यह तय हो गया कि संयुक्त अरब अमीरात भारत मे 4.50 लाख करोड़ रुपए निवेश करेगा.

हालांकि इस दौरान उनसे एक चूक भी हुई. मोदी ने बांग्लादेश से हुए हालिया समझौतों का जिक्र करते हुए शेख हसीना को बांग्लादेश का राष्ट्रपति कह दिया जबकि वो प्रधानमंत्री हैं.

मोदी का तंज़

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
इमेज कॉपीरइट BBC World Service

नरेंद्र मोदी ने भारत में पिछली सरकारों का नाम लिए बिना ही कहा कि भारत से 'हर हफ्ते सात सौ से ज़्यादा फ्लाइटें यहां आती है, फिर भी भारत के प्रधानमंत्री को यहां आने में 34 साल लग गए.'

मोदी ने तंज करते हुए कहा कि पहले की सरकारों ने कई अच्छे काम उनके लिए छोड़ दिया, वे इससे ख़ुश हैं.

उन्होंने यूएई में अपने ज़ोरदार स्वागत के लिए यूएई के नेतृत्व की खुले दिल से तारीफ़ की.

मोदी ने कहा कि संयुक्त अरब अमीरात की सरकार ने मंदिर बनाने के लिए ज़मीन देने का फ़ैसला किया है. यह एक बड़ी बात है.

उन्होंने यूएई के क्राउन प्रिंस के सम्मान में खड़े होकर तालियां बजाने का आग्रह किया.

इमेज कॉपीरइट AP

नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा कि चरमपंथ के ख़िलाफ़ संयुक्त अरब अमीरात भारत के साथ खड़ा होगा, यह आश्वासन उन्हें दिया गया है.

उपब्धियां

प्रधानमंत्री ने दुबई में अपनी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं, जिनमें जनधन योजना से लेकर प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना और नगा अलगावादियों से हुआ शांति समझौता शामिल है.

उन्होंने कहा कि दूसरे लोगों को भी इस तरह हिंसा का रास्ता छोड़ बातचीत के ज़रिए समस्या को सुलझाने की कशिश करनी चाहिए.

मोदी ने ई-माइग्रेंट वर्कर स्कीम और ई-वीज़ा के बारे में भी लोगों से कहा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार