नीतीश कटारा हत्याकांड: दोषियों को राहत नहीं

इमेज कॉपीरइट AFP

सुप्रीम कोर्ट ने 2002 के नीतीश कटारा हत्याकांड में विकास यादव, विशाल यादव और सुखदेव पहलवान को दोषी क़रार देने के फ़ैसले को बरक़रार रखा है.

हालांकि समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार अदालत इन लोगों की सज़ा की अवधि के मुद्दे पर सुनवाई करने को सहमत हो गई है.

इन तीनों को बिज़नेस एक्ज़ीक्यूटिव नीतीश कटारा की फ़रवरी 2002 में हत्या करने का दोषी पाया गया है.

विकास और विशाल यादव अपनी बहन भारती के साथ नीतीश के कथित रिश्तों का विरोध कर रहे थे.

इसी साल फरवरी में दिल्ली हाई कोर्ट ने इन तीनों को उम्रकैद देने के ट्रायल कोर्ट के फैसले को बरक़रार रखा था.

विकास यादव उत्तर प्रदेश के राजनेता डीपी यादव के बेटे हैं और विशाल उनके चचेरे भाई है.

कोर्ट ने इसे ऑनर किलिंग का मामला माना है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)