पाक ने कश्मीरी अलगाववादियों को दावत दी

  • 19 अगस्त 2015
सैय्यद अली शाह गीलानी इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अलगाववादी नेता सैय्यद अली शाह गिलानी

अगले हफ़्ते होने वाली भारत और पाकिस्तान के सुरक्षा सलाहकारों की बैठक के पहले पाकिस्तान ने कश्मीर के अलगाववादी नेताओं को मुलाक़ात के लिए आमंत्रित किया है.

पिछली बार अलगाववादी नेताओं को दी गई इस तरह की दावत के विरोध में भारत ने पाकिस्तान के साथ होने वाली विदेश सचिवों की बैठक रद्द कर दी थी.

अलगाववादी नेताओं ने पाकिस्तान के ताज़ा न्यौते को क़बूल कर लिया है. ये फ़ैसला एक बैठक के बाद लिया गया.

बैठक में सैय्यद अली शाह गिलानी, मीरवाइज़ उमर और यासीन मलिक शामिल थे.

इन सभी की मुलाक़ात पाकिस्तान सुरक्षा सलाहकार सरताज अज़ीज़ से उस बैठक के पहले होगी जो उनके और भारतीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल के बीच दिल्ली में होनी है.

सैय्यद अली शाह गिलानी के प्रवक्ता अयाज़ अकबर ने बीबीसी को बताया, "हां, हमें पाकिस्तान की ओर से न्यौता मिला था जिसे हमने अपनी एक्जीक्यूटिव काउंसिल में रखा. हर किसी ने माना कि हमें इस न्यौते को स्वीकार करना चाहिए. हमने फ़ैसला किया कि गिलानी साहब के नेतृत्व में हमारा प्रतिनिधिमंडल अज़ीज़ साहब से बातचीत करने जाएगा."

बातचीत पर संकट?

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption पाकिस्तानी सुरक्षा सलाहकार सरताज अज़ीज़

पाकिस्तान के इस क़दम को भारत-पाक बातचीत में एक बाधा की तरह देखा जा रहा है, क्योंकि भारत दोनों देशों के बीच कश्मीर समेत हर मुद्दे को द्विपक्षीय बातचीत से सुलझाने की बात करता रहा है.

पिछले साल भी कश्मीरी अलगाववादी नेताओं की भारत में पाकिस्तानी उच्चायुक्त के साथ हुई मुलाक़ात के बाद भारत ने सचिव स्तर की वार्ता रद्द कर दी थी.

वहीं पिछले महीने पाकिस्तानी दूतावास में आयोजित ईद मिलन पार्टी का अलगाववादी नेताओं ने बहिष्कार कर दिया था.

ये नेता ऊफा में भारत-पाकिस्तान के बीच हुई बातचीत में कश्मीर मुद्दे की उपेक्षा किए जाने से नाराज़ थे.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार