ताज म​हल में लटका फानूस गिरा

  • 22 अगस्त 2015

ताज महल के मुख्य प्रवेश द्वार पर लगा ब्रिटिश काल का 60 किलोग्राम वज़न का एक फानूस नीचे गिर पड़ा जिसके बाद पर्यटकों में भगदड़ मच गई.

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने इस संबंध में जांच शुरू कर दी है. सूत्रों ने बताया कि छह फुट ऊंचे और चार फुट चौड़े इस फानूस को लॉर्ड कर्जन ने भेंट किया था और इसे 1905 में ताज महल के शाही द्वार पर लगाया गया था.

इस संबंध में कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया गया है कि फानूस किस वजह से गिरा.

हालांकि प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार एक सफाईकर्मी इस दो मीटर ऊँचे फानूस की सफाई कर रहा था, तभी वो फानूस गिर पड़ा.

'पुराना हो गया था'

हालांकि मामले की जांच कर रहे पुरातत्त्वविद् के अनुसार यह फानूस संभवत: पुराना हो जाने के कारण गिरा.

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के अनुसार आगरा के एएसआई प्रमुख भुवन विक्रम सिंह ने गत गुरुवार को कहा था कि फानूस की अच्छी तरह से जांच करने और उसकी मौजूदा स्थिति को देखने के बाद ही उसे फिर से लगाने के संबंध में निर्णय लिया जाएगा.

इस बीच कुछ पर्यटक गाइड ने एएसआई अधिकारियों पर 'घोर लापरवाही' बरतने का आरोप लगाया है और स्मारक और कलाकृतियों की देख-रेख में उनकी विशेषज्ञता पर सवाल उठाया है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार