आरक्षण को लेकर पटेल समुदाय की रैली

इमेज कॉपीरइट ANKUR JAIN

आज जिन ख़बरों पर रहेंगी सबकी नज़रें, उनमें प्रमुख हैं अहमदाबाद में पटेल समुदाय की रैली, अरविंद केजरीवाल और मोदी की मुलाक़ात और प्रवासी मज़दूरों के बारे में ब्रितानी सरकार के नए प्रस्तावों की घोषणा.

ओबीसी कोटे के अंतर्गत आरक्षण की मांग कर रहा गुजरात का पटेल समुदाय आज राजधानी अहमदाबाद में जनसभा के ज़रिये शक्ति प्रदर्शन कर रहा है.

पटेल नेताओं ने बंद का भी आह्वान किया है और पुलिस ने कुछ मुख्य मार्गों पर यात्रा की पाबंदी लगाने के साथ लोगों से विशेष परिस्थितियों में ही घर से बाहर निकलने का अनुरोध किया है. आंदोलन का नेतृत्व ‘पाटीदार अनामत आंदोलन समिति’ के संयोजक हार्दिक पटेल कर रहे हैं.

महमूद फ़ारूक़ी

बॉलीवुड फिल्म पीपली लाइव के निर्देशक महमूद फ़ारूक़ी की ज़मानत पर आज दिल्ली की एक अदालत में सुनवाई होगी. फ़ारूक़ी को दिल्ली पुलिस ने 35 वर्षीय एक अमरीकी महिला से बलात्कार के मामले में गिरफ्तार किया था.

अमरीका के कोलंबिया विश्वविद्यालय से मास्टर डिग्री कर रही महिला रिसर्च के काम से भारत आई हुई थी. फ़ारूक़ी 20 जून से न्यायिक हिरासत में हैं.

केजरीवाल मिलेंगे मोदी से

केन्द्र और दिल्ली सरकार के बीच कई मुद्दो पर चर्चा के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिल रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

बताया जा रहा है कि केजरीवाल उपराज्यपाल नजीब जंग के साथ विवाद, विकास परियोजनाओं के लिए भूमि की कमी और नौकरशाहों के तबादले जैसे मुद्दों पर प्रधानमंत्री से चर्चा कर सकते हैं.

सेशेल्स के राष्ट्रपति की भारत यात्रा

हिन्द महासागर में स्थित खूबसूरत द्वीपों वाले देश सेशेल्स गणराज्य के राष्ट्रपति जेस एलेक्स माइकल तीन दिन की यात्रा पर मंगलवार को भारत आ रहे हैं.

उनकी यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच कर चोरी संबंधी सूचनाओं के आदान प्रदान के करार पर हस्ताक्षर किए जाएंगे. बुधवार को माइकल का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया जाएगा जिसके बाद वे राजघाट पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे.

इमेज कॉपीरइट AFP

ब्रितानी सरकार अवैध रूप से वहां रह रहे लोगों की समस्या से निपटने के लिए आज नए प्रस्तावों की घोषणा करने वाली है. इसके तहत अवैध रूप से काम कर रहे लोगों के ख़िलाफ़ आपराधिक मामला चलाया जाना भी शामिल है.

इंग्लैंड और वेल्स में इस नियम को तोड़ने वालों को छह महीने की क़ैद और असीमित जुर्माने का प्रावधान है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार