महागठबंधन के ख़िलाफ़ चली 'अपमान रैली'

  • 30 अगस्त 2015
सोनिया गांधी, नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव इमेज कॉपीरइट AFP. Facebook pages of Nitish Kumar and Lalu Yadav

एक तरफ़ जहां पटना में रविवार को महागठबंधन की 'स्वाभिमान रैली' थी, वहीं, दूसरी तरफ़ सोशल मीडिया पर ट्रेंड में रही 'अपमान रैली'.

पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में रैली में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, आरजेडी के मुखिया लालू प्रसाद और कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी एक साथ मंच पर थे.

स्वाभिमान रैली के ठीक पहले सोशल मीडिया पर 'अपमान रैली' हैशटैग के साथ महागठबंधन रैली के विरोध में लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे थे.

'भगवान बचाए'

इमेज कॉपीरइट Manish shandilya

अंकित बजाज ने लिखाहैं, ''अब भगवान ही बिहार को बचाए.''

देवेंद्र पाण्डे ने लिखा, ''लुट गया बिहार.'' वे लिखते हैं, ''इससे हमें यह अंदाज़ा लगता है कि एक लाइन से नौटंकीबाज़ों को चुनकर बिहार को क्या मिलेगा.''

अरविंद माथुर ने ट्वीट किया, 'महागठबंधन में केजरीवाल के आने से यह तो शीना हत्या मामले से भी अधिक उलझ गया है...'

इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

जयप्रकाश एस. सिंह ने लिखा, 'भारत मे जब गाय का बछड़ा चारा नहीं खाता है तो गाय कहती है- खा लो नहीं तो लालू खा जाएगा.'

राकेश रंजन ने ट्विटर पर लिखा, 'नारे ख़ूब लगाएंगे, मंगलराज फिर लाएँगे. फिर से चारा खाएंगे, स्वाभिमान भूल जाएंगे.'

'सत्ता के मोह में एक'

अरुण माथुर ने लिखा, ''जो लोग कभी एक दूसरे पर आरोप लगाकर लगाकर थक जाते थे, वे ही बिहार में सत्ता के मोह में एक हो गए हैं.''

इमेज कॉपीरइट manish shandilya

प्रियंका बजाज ने लिखा, ''1990 सेे 2005 तक लालू यादव और उनकी पार्टी ने बिहार को सबसे अधिक ख़राब सरकार दी. और बात करते हैं स्वाभिमान की.''

केवी प्रदीप कहते हैं, ''किसानों का अपमान हो रहा है, देश के सैनिकों का अपमान हो रहा है, अपमान रैली के ज़रिये बीजेपी को ख़ुद शर्मिंदा होना चाहिए.''

'टिकाऊ है बिकाऊ नहीं'

इमेज कॉपीरइट PTI

रैली से ठीक पहले लालू यादव ने ट्वीट किया, "बिहारी जनमानस बीजेपी को खदेड़ने एवं पटकने का मन बना चुका है."

बीजेपी को दिल का दौरा पड़ गया है

लालू ने आगे लिखा, ''बिहारी आज बीजेपी को बता देंगे कि बिहारी लोग टिकाऊ है बिकाऊ नहीं. हमारी रगों में, डीएनए में अच्छे संस्कार बसते हैं.''

नीतीश कुमार ने भी मैदान में समर्थकों की भारी भीड़ जुटने के विषय में ट्वीट कर ख़ुशी ज़ाहिर की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार