विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में भारत की दावेदारी

सुशील कुमार इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption ग्लासगो कॉमनवेल्थ में सुशील कुमार ने स्वर्ण जीता था

अमरीका के लास वेगास शहर में सोमवार से विश्व कुश्ती चैंपियनशिप शुरू होने जा रही है. इस चैंपियनशिप में पुरूष फ्री स्टाइल और ग्रीको रोमन शैली की कुश्ती में हिस्सा लेंगे.

महिला वर्ग के मुक़ाबले फ्री स्टाइल शैली में होंगे. लंदन ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता योगेश्वर दत्त की अगुवाई में भारतीय दल भी फ्री स्टाइल शैली में अपनी चुनौती पेश करेगा.

वहीं साल 2012 में विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक विजेता और ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली विनेश की मौजूदगी से जोश से भरी भारतीय महिला पहलवान गीता फोगाट भी अपना दावा पेश करेंगी.

योगेश्वर से उम्मीद

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption योगेश्वर दत्त

विश्व चैंपियनशिप में फ्री स्टाइल शैली में भारतीय पुरूष टीम में एक से बढ़कर एक पहलवान हैं जिनसे पदक की उम्मीद की जा सकती है.

निश्चित रूप से योगेश्वर दत्त टीम के सबसे अनुभवी और भरोसेमंद पहलवान हैं. लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के बाद उनहोंने ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेल 2014 में स्वर्ण पदक जीता.

इसके बाद उन्होंने इंचियोन एशियाई खेलों में साल 2014 में ही स्वर्ण पदक जीतकर अपनी कामयाबी को नई उड़ान दी.

योगेश्वर दत्त अभी तक विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कोई पदक नही जीत सके हैं. ऐसे में वह इस बार पदक जीतने के लिए जी-जान एक करेंगे. योगेश्वर दत्त 65 किलो भार वर्ग में भाग लेंगे.

कई चेहरे और भी

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption बजरंग

57 किलो भार वर्ग में उतरने वाले अमित कुमार से भी पदक की उम्मीद की जा सकती है.

अमित कुमार साल 2013 में विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में रजत पदक और साल 2014 में ग्लास्गो राष्ट्रमंडल में स्वर्ण पदक जीत चुके हैं.

61 किलो भार वर्ग में भाग लेने वाले बजरंग भी पदक के दावेदारो में है. बजरंग साल 2013 में विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक और ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों में रजत तथा इंचियोन एशियाई खेलों में भी रजत पदक जीत चुके हैं.

बजरंग को पिछले महिने अर्जुन पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था.

74 किलो भार वर्ग में उतरने वाले नरसिंह पंचम यादव बेहद प्रतिभाशाली पहलवान माने जाते हैं लेकिन उनकी सर्वश्रेष्ट कामयाबी का अभी इंतज़ार है.

नरसिंह इंचियोन एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीत चुके हैं.

इनके अलावा 70 किलो भार वर्ग में अरूण, 86 किलो में नरेश कुमार, 97 किलो में मौसम खत्री और 125 किलो में सुमित भी हिस्सा लेंगे.

महिलाएं भी तैयार

इमेज कॉपीरइट Norris Pritam
Image caption गीता फोगट

महिलाओं के फ्री स्टाइल मुक़ाबलों में भारत की गीता फोगाट 58 किलो भार वर्ग में हिस्सा लेंगी.

वह 2012 में विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक और दिल्ली राष्ट्रमंडल खेल 2010 में स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं.

गीता के अलावा विनेश 48 किलो भार वर्ग में ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक और इंचियोन एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीत चुकी हैं.

इन दोनों बहनों के अलावा 55 किलो भार वर्ग में ललिता सहरावत ने भी ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीता था. इन तीनों महिला पहलवानों से पदक की उम्मीद की जा सकती है.

वैसे महिला वर्ग में ही 75 किलो में निक्की, 69 किलो में नवजोत, 63 किलो में अनीता, 60 किलो में सरिता और 53 किलो में निर्मला देवी भी अपनी चुनौती पेश करेंगी.

ग्रीको रोमन में भी भारत के 8 पहलवान विभिन्न भार वर्ग में उतरेंगे. यह विश्व चैंपियनशिप अगले साल रियो में होने वाले ओलंपिक के लिए क्वालीफाइंग टूर्नामेंट भी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार