'डेंगू मरीज़ों को प्राथमिकता दें अस्पताल'

डेंगू अस्पताल इमेज कॉपीरइट Reuters

दिल्ली में डेंगू से सात साल के बच्चे की मौत और फिर उसके माता-पिता की आत्महत्या के बाद दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बैठक बुलाई.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने बैठक में स्वास्थ्य सचिव, डिविज़नल कमिश्नर और स्थानीय संस्थानों के निदेशकों को डेंगू की रोकथाम के लिए तुरंत कदम उठाने की बात कही.

एक हज़ार नए बिस्तर

इमेज कॉपीरइट Reuters

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि डेंगू की रोकथाम दिल्ली सरकार की प्राथमिकता है.

दिल्ली के अस्पतालों में डेंगू के मरीज़ों के लिए एक हज़ार नए बिस्तरों की व्यवस्था की बात कही है.

अस्पतालों को डेंगू के मरीज़ों को प्राथमिकता देने की बात कही गई है.

समाचार एजेंसी पीटीआई से सत्येन्द्र जैन ने कहा, "डेंगू के बढ़ते मामलों को देखकर, अगले तीन चार दिन में मैंने एक हज़ार नए बिस्तर खरीदने का आदेश दिया है. अगर अस्पतालों में जगह नहीं है तो लॉबी में बिस्तर रखे जाएं."

ज़िलाधिकारियों, उप ज़िलाधिकारियों और तहसीलदारों को अपने वॉर्डों में डेंगू के मामलों की नज़दीक से निगरानी करने को कहा गया है.

अस्पतालों में डेंगू के मरीज़ों के लिए बिस्तर खाली कराने के लिए अस्पतालों में अगर संभव हो तो ऑपरेशन भी स्थगित करने को कहा गया.

ढिलाई बरतने का आरोप

इमेज कॉपीरइट AP

जैन ने दिल्ली के तीनों म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशनों पर मच्छरों को रोकने के उपाय करने में ढिलाई बरतने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा, "हमें लोगों से शिकायत मिली है कि म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन के कर्मचारी मच्छर मारने की दवा के छिड़काव के लिए उनके घर नहीं जाते.

जो अपना काम ठीक से नहीं करेंगे उन पर कड़ी कार्रवाई होगी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार