डेंगू पर दिल्ली के मंत्री का करें यक़ीन?

  • 15 सितंबर 2015
इमेज कॉपीरइट AP

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भरोसा दिलाया है कि स्थानीय अस्पताल डेंगू से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं.

उन्होंने बीबीसी से बातचीत में कहा कि इस साल डेंगू का असर पिछले साल के मुक़ाबले ज़्यादा है लेकिन “सरकार ने अस्पतालों (सरकारी) में तैयारी कर रखी है और सभी मरीज़ों को दाख़िल किया जा रहा है.”

हाल ही में मीडिया में रिपोर्ट छपी थी कि दिल्ली में एक बच्चे को डेंगू का इलाज सही वक़्त पर नहीं मिल पाने के कारण उसकी मौत हो गई थी. कुछ ही घंटों में उसके मां-बाप ने आत्महत्या कर ली थी.

रिपोर्ट के बाद से ही अस्पतालों की तैयारी और मरीज़ों के साथ व्यवहार पर सवाल उठने लगे थे.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं. दिल्ली सरकार से भी रिपोर्ट तलब की गई है.

दिल्ली के मामले

इमेज कॉपीरइट AFP

सत्येंद्र जैन के मुताबिक़ दिल्ली में डेंगू के 1200 से 1500 मामले सामने आए हैं.

उन्होंने कहा, “दिल्ली सरकार ने अपने अस्पतालों में इंतज़ाम किए हैं. लोग घबराएं नहीं. दवाई छिड़कने, कूलरों में दवाई डालने, लोगों के घर-घर जाकर निरीक्षण करने के आदेश दे दिए गए हैं.”

उधर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिल्ली सरकार से कहा है कि वो उन निजी अस्पतालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करे जो डेंगू के मरीज़ों से ज़्यादा पैसा ले रहे हैं.

आदेश के मुताबिक़ दिल्ली सरकार से कहा गया है कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जाए और डेंगू के मरीज़ों की भर्ती की प्रक्रिया तेज़ हो.

डेंगू मरीज़ों के लिए केंद्रीय अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या भी बढ़ाई जा रही है.

उधर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने लोगों को सलाह दी है कि

  • वो ध्यान रखें कि कहीं घर में रुका हुआ पानी तो नहीं.
  • डेंगू का मच्छर साफ़ पानी में पनपता है.
  • लोग पूरी बांह के कपड़ें पहनें.
  • लोग मच्छरदानी का प्रयोग करें.
  • अगर आपको सिरदर्द है, उलटी हो रही है तो ख़ुद अपना इलाज न करें. ये ख़तरनाक हो सकता है.
  • डॉक्टर के पास जाइए.शरीर के भीतर पानी की कमी नहीं होनी चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार