'एयर इंडिया के विनिवेश के लिए सरकार तैयार'

एयर इंडिया इमेज कॉपीरइट AP

भारत सरकार एयर इंडिया के विनिवेश के लिए पूरी तरह से तैयार है. नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री महेश शर्मा ने बीबीसी हिंदी के गूगल हैंगआउट में ये जानकारी दी है.

बीबीसी गूगल हैंगआउट में बीबीसी संवाददाता ज़ुबैर अहमद ने उनसे पूछा, "एयर इंडिया पर 40,000 करोड़ रुपये का कर्ज़ है. सरकार इसे बंद क्यों नहीं कर देती?"

(देखिए: महेश शर्मा के साथ गूगल हैंग आउट)

इस पर महेश शर्मा ने कहा, "हम एयर इंडिया के विनिवेश के लिए गंभीरतापूर्वक विचार कर रहे हैं. हम ज्वाइंट वेंचर के लिए भी तैयार हैं. जैसे ही हमें कोई अच्छा प्रस्ताव मिलता है जो एयर इंडिया को सही और व्यवस्थित कर सके तो हम विनिवेश कर देंगे."

'बैन के ख़िलाफ़'

गूूगल हैंगआउट में उनसे ये भी पूछा गया कि मोदी राज में तमाम तरह के बैन क्यों लगाए जा रहे हैं?

इसके जवाब में महेश शर्मा ने कहा, "मैं व्यक्तिगत तौर पर किसी भी तरह के बैन के ख़िलाफ़ हूं. मुझे लगता है कि लोकतंत्र में हर समुदाय को हर तरह की आज़ादी होनी चाहिए."

"जहां तक मुंबई में दो दिन के मीट बैन की बात है तो मुझे लगता है कि अगर एक वर्ग के थोड़े से त्याग से दूसरे वर्ग के लोग ख़ुश और संतुष्ट हो जाएं तो इसमें क्या बुरा है."

हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि यह 'त्याग' थोपा नहीं जाना चाहिए.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )