बर्धमान धमाका: ईनामी संदिग्ध गिरफ्तार

इमेज कॉपीरइट NIA

एनआईए और झारखंड के आंतकवाद निरोधक दस्ते ने बर्धमान बम ब्लास्ट के एक संदिग्ध को गिरफ्तार कर लिया है.

झारखंड के रांची और रामगढ़ ज़िले की सीमा पर गिरफ्तार किए गए सादिक उर्फ रेहान उर्फ तारिकुल पर पांच लाख रुपए का ईनाम था.

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता एसएन प्रधान ने ताारिक की गिरफ्तारी की पुष्टि की है.

इस बीच जांच एजेंसी एनआईए ने इस कार्रवाई की जानकारी भी सार्वजनिक की है.

अदालत में पेश

इमेज कॉपीरइट neeraj sahay

बुधवार को उसे एनआईए की विशेष अदालत में पेश करते हुए और आगे की तफ्तीश के लिए उसे रिमांड पर लिया जाएगा.

एनआईए का दावा है कि सादिक कथित तौर पर जमातुल मुजाहिदीन, बांग्लादेश संगठन में प्रमुख सदस्य के रूप में शामिल रहे हैं.

एनआईए और झारखंड पुलिस के मुताबिक सादिक कथित तौर पर इस संदिग्ध संगठन के मुख्य प्रशिक्षक रहे हैं और जेएमबी के द्वारा भारत में गतिविधियां संचालित करने में उनकी अहम भूमिका रही है.

चार्जशीट दाखिल

पिछले साल अक्तूबर महीने में बंगाल के बर्धमान में हुए बलास्ट में दो संदिग्ध भी मारे गए थे. तब घटना स्थल से भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री समेत संदिग्ध चीजें बरामद की गई थी. इस घटना में जेएमबी की संलिप्तता बताते हुए मुकदमा दर्ज़ किया गया था.

एनआईए ने इस मामले में अब तक 20 से ज़्यादा संदिग्धों के खिलाफ़ चार्जशीट दाखिल की है. इनमें सादिक भी शामिल हैं.

सादिक के खिलाफ़ 23 जुलाई को चार्जशीट दाखिल की गई है. इसी मामले में दर्ज़न भर संदिग्धों पर ईनाम घोषित किया गया है.

झारखंड के पुलिस प्रवक्ता के मुताबिक, एनआईए की जांच में यह बात सामने आई है कि सादिक बांग्लादेशी हैं. और उन्होंने साहेबगंज, झारखंड की एक लड़की से बर्धमान के एक मदरसे में शादी की है. झारखंड के साहिबगंज में वे रेहान शेख के नाम से रह रहे थे.

पुलिस का दावा है कि सादिक उर्फ रेहान की गिरफ्तारी से बर्धमान बम बलास्ट की जांच में कई बातें सामने आ सकती हैं. इसी मामले में अप्रैल महीने में झारखंड के पाकुड़ से एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार