लालू प्रसाद और सुशील मोदी पर एफ़आईआर दर्ज

  • 29 सितंबर 2015
इमेज कॉपीरइट rjd.co.in

राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी के ख़िलाफ़ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन से जुड़े एक मामले में एफ़आईआर दर्ज की गई है.

मंगलवार की शाम प्रेस कांफ्रेंस में अपर मुख्य चुनाव अधिकारी आर. लक्ष्मणन ने बताया, ‘‘राघोपुर में लालू प्रसाद ने सार्वजनिक सभा में जो बातें कहीं थीं, उसकी समीक्षा के बाद वैशाली के ज़िला निर्वाचन पदाधिकारी ने उनके ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कराई है.’’

लक्ष्मणन ने जानकारी दी कि आईपीसी, जनप्रतिनिधित्व क़ानून के प्रावधानों और आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आधार पर एफ़आईआर दर्ज की गई है.

‘लड़ाई बैकवर्ड-फ़ॉरवर्ड के बीच’

राघोपुर में रविवार में एक चुनावी सभा में लालू ने कहा था कि इस चुनाव में लड़ाई बैकवर्ड-फ़ॉरवर्ड के बीच है.

इमेज कॉपीरइट Prashant Ravi

अपने छोटे बेटे तेजस्वी यादव के निर्वाचन क्षेत्र राघोपुर के तेरसिया दियारे से लालू ने चुनाव अभियान की शुरुआत की थी.

इधर मंगलवार को कैमूर ज़िले के भभुआ में भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पर भी आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के तहत एक मामला दर्ज किया गया.

सोमवार को भभुआ की सभा में सुशील मोदी ने कहा था कि अगर भाजपा की सरकार बनती है तो दलित बस्ती में रंगीन टीवी और लैपटॉप बांटा जाएगा.

साथ ही मोदी ने यह भी कहा था कि ग़रीबों को साल में एक बार धोती और कुर्ता भी मिलेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए