इन लड़कों का पेशा ही है लड़कियाँ घुमाना

jugni इमेज कॉपीरइट jugni

रोहित खट्टर और नीतीश चौहान ने ऐसा काम चुना है, जिसमें वे लड़कियों के साथ घूमते भी हैं और इसके लिए पैसे भी लेते हैं.

दरअसल रोहित और नितीश 'जुगनी' नाम की एक ट्रैवल एजेंसी चलाते हैं, जिसमें वे हर उम्र की लड़कियों के घूमने का इंतज़ाम करते हैं. वे इन लड़कियों को 'जुगनी' नाम से पुकारते हैं.

मैनेजमेंट की पढ़ाई पूरी करने के बाद दोनों बहुराष्ट्रीय कंपनियों में काम करते थे. उन्होंने एक दिन यकायक सब छोड़ कर तय किया कि वे सिर्फ लड़कियों के लिए ट्रैवल एजेंसी चलाएंगे.

लड़कियों की सुरक्षा

इमेज कॉपीरइट jugni

रोहित ने बीबीसी से बातचीत करते हुए कहा, "मैं ट्रैवल का ही काम करता था और मैंने पाया कि लड़कियों को अकेले घूमने में दिक़्क़त आती है. मैंने सोचा कि ऐसा काम शुरू किया जाए, जिसमें मैं और मेरा दोस्त नीतीश लड़कियों के साथ उनकी छुट्टी पर जाएं ताकि वे अकेले घूमते हुए सुरक्षित महसूस करें."

इमेज कॉपीरइट jugni

रोहित और नीतीश एक बार कम से कम छह और ज़्यादा से ज़्यादा 12 लड़कियों को ही ट्रिप लेकर जाते हैं.

नीतीश ने कहा, "लड़कियों के साथ यात्रा करना आसान है, जबकि पुरुषों के साथ कई बार मुश्किलों का सामना करना पड़ता है."

इमेज कॉपीरइट jugni
Image caption नीतीश चौहान अपनी 'जुगनियों' के साथ

"लड़कियां कभी परेशान नहीं करती हैं. यह और बात है की वे कभी भी किसी चीज की डिमांड कर सकती हैं."

एडवेंचर का शौक

इमेज कॉपीरइट jugni

नीतीश के मुताबिक़, "हमें वे सारी चीजें रखनी होती हैं, जो लड़कियां अमूमन अपने पास रखती हैं, मसलन, सैनिट्री पैड, सेफ़्टी पिन, यहां तक कि रबर बैंड भी."

एक साल पहले शुरू की गई अपनी कंपनी के अनुभव बांटते हुए रोहित कहते हैं, "अब समय बदल गया है. किसी भी उम्र की महिला हो, उसे सिर्फ़ घूमना नहीं, एडवेंचर करना अच्छा लगता है."

नीतीश कहते है कि "कई बार जुगनियां शराब पी लेती हैं, उसके बाद हमारा काम उन्हें संभालने का होता है."

इमेज कॉपीरइट jugni

रोहित और नीतीश कहते हैं, "सबसे मज़ेदार होता है जब वे हमें फ़ोटो खींचने को कहतीं हैं और ये कभी न ख़त्म होने वाला सिलसिला होता है. कई बार हमें इतनी तस्वीरें खींचनी होती हैं कि उंगुलियों में दर्द होने लगता है."

दिल्ली की रहने वाली जस्सी 'जुगनी' के बारे में कहतीं हैं, "मैं अपने तीसरे ट्रिप में भी जुगनी के साथ ही जा रही हूँ, यह बहुत सुरक्षित है."

'महिलाओं के लिए, महिलाओं का'

इमेज कॉपीरइट jugni

भारत में कई ऐसी ट्रैवल एजेंसियां हैं, जो सिर्फ़ महिलाओं को टूर कराती हैं. लेकिन वे महिलाएं ही चलाती हैं. मसलन, 'वूमेन ऑन क्लाउड्स'. इसे शिरीन ने शुरू किया था.

सुमित्रा सेनापति ने क़रीब आठ साल पहले ऐसा ही एक ट्रैवल क्‍लब बनाया था, जिसका नाम है, ‘वाउ’ यानी 'विमेन ऑन वांडरलस्‍ट'.

इमेज कॉपीरइट jugni
Image caption रोहित खट्टर् अपनी 'जुगनियों' के साथ

ट्रैवल कंपनी केसरी ने घुमक्कड़ महिलाओं के लिए ख़ास ‘माई फ़ेयर लेडी’ टूर पैकेज पेश किए हैं. इसके तहत महिलाओं को देश-विदेश की कई जानी-अनजानी मंजिलों की सैर कराई जाती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार