दादरी हत्याकांड दुनिया भर में सुर्ख़ियों में

  • 2 अक्तूबर 2015
दुबई की वेबसाइट इमेज कॉपीरइट Other
Image caption अरब भाषा के टीवी चैनल अल एलन की वेबसाइट पर ख़बर को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया.

दादरी में गोमांस खाने की अफ़वाह पर एक मुसलमान की पीट-पीटकर हत्या की ख़बर आने के बाद से ही ट्विटर पर #internationalshame यानी अंतरराष्ट्रीय शर्म हैशटैग ट्रेंड करने लगा.

मर्डर ओवर मील (खाने के लिए हत्या) हैशटैग भी ट्रेंड कर रहा था.

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption अल जज़ीरा ने अंग्रेज़ी और अन्य भाषाओं के अपने वेब संस्करणों में ख़बर को प्रकाशित किया.

अंग्रेज़ी प्रेस के तमाम बड़े अंतरराष्ट्रीय अख़बारों के साथ-साथ विश्व भर की भाषाओं में भी इस हत्याकांड को कवर किया गया.

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption मिस्र के अख़बार अल मिस्र अल योम की वेबसाइट ने ख़बर के साथ भारतीय तिरंगे की तस्वीर लगाई.

अंग्रेज़ी अख़बार न्यूयॉर्क टाइम्स ने भी अख़लाक़ की मौत की ख़बर प्रकाशित की. साथ ही वाइस न्यूज़, हफ़िग्टन पोस्ट, टाइम पत्रिका समेत तमाम प्रमुख अंग्रेज़ी वेबसाइटों ने दादरी हत्याकांड की ख़बर को जगह दी.

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption न्यू यॉर्क टाइम्स ने गाय की हत्या की अफ़वाह पर मुसलमान की हत्या बताया.

सभी अंग्रेज़ी वेबसाइटों ने इसे हिंदू भीड़ के हाथों एक मुसलमान की हत्या बताया.

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption आयरलैंड के अख़बार आइरिश टाइम्स ने सड़क पर टहलती गाय की तस्वीर के साथ ये ख़बर प्रकाशित की.

यही नहीं दुनिया भर की कई भाषाओं के प्रकाशनों में भी इस ख़बर को जगह दी गई.

ऊरूग्वे के स्पेनिश भाषी समाचार पत्रों में भी हिंदू भीड़ के हाथों एक मुसलमान की हत्या की इस ख़बर को जगह दी गई.

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption दक्षिण कोरिया की सबसे बड़ी समाचार सेवा योनहेप न्यूज़ पर भी ये ख़बर प्रकाशित हुई.
इमेज कॉपीरइट Other
Image caption जापान की सरकारी समाचार सेवा एनएचके समेत प्रमुख जापानी भाषी वेबसाइटों पर भी भारत की इस ख़बर को जगह दी गई.
इमेज कॉपीरइट Other
Image caption फ़्रेंच भाषा के तमाम प्रमुख समाचार माध्यमों पर भी ये ख़बर रही.
इमेज कॉपीरइट Other
Image caption डेर स्पीगल समेत जर्मन भाषा के मुख्य समाचार माध्यमों में भी ये ख़बर रही.
इमेज कॉपीरइट Other
Image caption दुनिया बुलेटिन समेत तुर्की की अहम वेबसाइटों पर भी गोमांस की अफ़वाह पर हुई हत्या की ये ख़बर छापी गई.
इमेज कॉपीरइट Other
Image caption पत्रिका वाइस न्यूज़ ने लिखा, 'गोमांस की अफ़वाह पर हुई हत्या से हिंदू कट्टरपंथ सुर्खियों में.'
इमेज कॉपीरइट Other
Image caption रूसी भाषा की प्रमुख वेबसाइटों पर भी इस घटना को जगह दी गई.

पाकिस्तान के उर्दू टीवी चैनलों और अख़बारों ने इस ख़बर पर आक्रामक रुख़ अख़्तियार करते हुए इसे हिंदू चरमपंथ की वारदात क़रार दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार